Sunday, Feb 23, 2020
people are angry with citizenship law yet modi popularity continues

नागरिकता कानून से नाराज हैं लोग, फिर भी कायम है मोदी की लोकप्रियता

  • Updated on 1/24/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। एक ताजा सर्वे के आंकड़े बताते हैं कि देश में नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ बन रहे माहौल के बावजूद मोदी सरकार (Modi Government) की लोकप्रियता कम नहीं हुई है। मूड ऑफ द नेशन नामक इस सर्वे को किया है। इसके अनुसार, अगर इस वक्त देश में चुनाव हुए तो शिवसेना के बाहर रहने पर भी एनडीए को 303 सीटें, यूपीए को 108 और अन्य को 132 सीटें मिलने का अनुमान है। 

बहादुर बच्चों से मिले PM मोदी, कहा- समाज और राष्ट्र के लिए आपको समर्पित देखकर गर्व होता है

नागरिकता कानून का विरोध फायदेमंद नहीं
सर्वे का मानना है कि नागरिकता कानून पर लोगों के आक्रोश का खास फायदा विरोधी दलों को नहीं मिल रहा है। इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को लगातार दूसरी बार सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया। इस सर्वे में सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि शीर्ष 7 मुख्यमंत्रियों में योगी आदित्यनाथ एकमात्र भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के चेहरा हैं। सर्वे में 47 साल के योगी आदित्यनाथ को 18 प्रतिशत वोट मिले, जबकि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 11-11 प्रतिशत वोटों के साथ दूसरे स्थान पर हैं।

अगर मैं मंत्री नहीं होता तो लगाता एयर इंडिया के लिए बोली: पीयूष गोयल

नीतीश कुमार तीसरे बेस्ट सीएम
देश के तीसरे बेस्ट सीएम बिहार के नीतीश कुमार (Nitish Kumar) बने। उन्हें 10 फीसदी वोट मिले। वहीं, दक्षिण भारत से वाईएस जगन मोहन रेड्डी (आंध्र प्रदेश) चौथे स्थान पर हैं, जिन्हें 7 फीसदी वोट मिले। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) और ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक 6-6 फीसदी वोटों के साथ 5वें स्थान पर रहे। वहीं, गुजरात के सीएम विजय रुपाणी 4 फीसदी वोटों के साथ छठे स्थान पर हैं।  7वें स्थान पर राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर से आगे रहे। हालांकि गहलोत और खट्टर को 3-3 फीसदी ही वोट मिले, लेकिन बढ़त गहलोत ने बनाई। 

comments

.
.
.
.
.