Sunday, Dec 04, 2022
-->
people-gathered-to-get-the-free-booster-dose-5976-got-the-dose

निशुल्क बूस्टर डोज लगवाने उमड़े लोग, पहले दिन 5976 को लगी डोज  

  • Updated on 7/15/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। कोरोना संक्रमण के प्रति सतर्कता या निशुल्क बूस्टर डोज मिलने पर लोगों में उत्साह कहा जाएं। चाहें, जो भी हो, लेकिन जिन टीकाकरण केंद्रों पर सुबह से शाम तक एक-दो ही लोग कोरोनारोधी टीका लगवाने पहुंचते थे। वहीं, शुक्रवार को टीकाकरण केंद्रों पर भीड़ दिखाई दी। लोगों ने एहतियाती डोज लगवाने को लेकर लंबी-लंबी लाइनों में लगकर लंबे इंतजार के बाद निशुल्क डोज लगवाई। शुक्रवार को जनपद में 5976 बूस्टर डोज लगाई गई। 

अभी तक फ्रंट लाइन वर्कर्स, हेल्थ केयर वर्कर्स को छोडक़र 18 से 59 आयु वालों को निजी अस्पतालों में शुल्क देकर डोज लगवानी पड़ रही थी। लेकिन, अब सरकार के निर्देश बाद 15 जुलाई यानी शुक्रवार से जिन्हें दोनों डोज लगवाए हुए 6 माह बीत चुके इस आयु वर्ग को भी निशुल्क बूस्टर डोज लगाना शुरू हो गया है। शुक्रवार को जिले में स्वास्थ्य विभाग की ओर से 74 स्वास्थ्य केंद्रों पर व्यस्कों को बूस्टर डोज लगाने की व्यवस्था की गई थी। इसके अलावा जिन लोगों की प्रथम व दूसरी शेष रही, उनका भी टीकाकरण किया गया।

संजयनगर स्थित संयुक्त जिला अस्पताल में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. भवतोष शंखधर, क्षेत्रीय पार्षद मनोज चौधरी, भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष उदित मोहन गर्ग ने संयुक्त रूप से फीता काटकर शुभारंभ किया। इस दौरान जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. नीरज अग्रवाल, डॉ. मथुरिया, अमन अग्रवाल, अर्पित अग्रवाल, सुनील चौधरी, विष्णु जादौन, संदीप मित्तल, कमल कुमार गर्ग अन्य मौजूद रहें।

बूस्टर डोज पाने वाले लाभार्थियों ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन जरूरी है। इसके अलावा बूस्टर डोज लगाने का सरकार का निर्णय सराहनीय है। शुक्रवार से निशुल्क बूस्टर डोज देने की शुरूआत से पूर्व 14 अप्रैल तक निर्धारित आयु वर्ग को 2961770 लोगों को वैक्सीन की डोज लग चुकी है। जिसके बाद 145004 ने डोज लगवा चुके थे। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि 30 सितम्बर तक निशुल्क बूस्टर डोज लगाई जाएगी। 
 

टीकाकरण केंद्रों पर दिखी भीड़ 
संयुक्त जिला अस्पताल के टीकाकरण केंद्र समेत शहर के कई केंद्रों पर बूस्टर डोज लगवाने के लिए लोगों की भीड़ रही। लंबी-लंबी लाइनों में लगकर लोगों ने अपनी पारी का इंतजार किया। कई केंद्रों पर स्टाफ की कमी के चलते भी टीकाकरण कार्य तेजी से नहीं हो सका। भीड़ के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नहीं किया गया। वहीं, कई लोग बिना मास्क के ही टीकाकरण पहुंचे। इस पर स्टाफ द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क लगाने की अपील करते दिखाई दिए। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.