Friday, Jan 18, 2019

कूड़ा डंपिंग करने पर लोगों ने डीएम कार्यालय में किया हंगामा

  • Updated on 1/10/2019

उत्तरकाशी/ब्यूरो। जिला प्रशासन ने मंगलवार को जोशियाड़ा बैराज के पास जबरन कूड़ा डंपिंग से करने से नाराज ग्रामीणों ने वीरवार को जिला मुख्यालय में जमकर हंगामा काटा। कंसेण,चामकोट, डांग, पोखरी, साडा आदि गांवों के ग्रामीणों ने जिला प्रशासन, पुलिस, क्षेत्रीय विधायक व पालिका के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। डीएम को चेतावनी दी कि यदि तीन के अंदर कूड़ा नहीं हटाया गया, तो रामलीला मैदान में माघ मेला को संपन्न नहीं होने देंगे, मेला का पूर्ण रूप से बहिष्कार करेंगे।

चप्पे-चप्पे पुलिस तैनात
तैनाव पूर्ण माहोल को देखते हुए भारी पुलिस बल को तैनात कर डीएम कार्यालय सहित शहर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात कर दी है।

बदबू से लोगा का जीना मुहाल 
जिला प्रशासन ने जोशियाड़ा बैराज के पास जल विद्युत निगम की भूमि के पास अस्थायी रूप से कूड़ा डंपिंग जोन बना दिया, जिसका ग्रामीण 8 दिसंबर से विरोध कर रहे हैं। कूड़ा डंप करने से ग्रामीणों के पैदाल मार्ग एवं स्कूली बच्चों को दुर्गंध का सामना करना पड़ रहा है।

ग्रामीणों जीतेंद्र सिंह पंवार, जिला पंचायत सदस्य अनिता गुसांई ने कहा कि क्षेत्रीय विधायक गोपाल रावत को ग्रामीणों ने इससे पूर्व ज्ञापन दिया। विधायक ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया था कि किसी भी सूरत में शहर का कूड़ा गांव के पास नहीं डंप होने देंगे। लेकिन अब तक समाधान नहीं हो पाया है। 

जोशियाड़ा बैराज के पास भागीरथी नदी से महज 100 मीटर दूर पर फेंके गए कूड़े पर बाडागडी के ग्रामीणों ने सवाल खड़े करते हुए एनजीटी से शिकायत करने की बात कही है। ग्रामीणों का कहना है कि आम लोगों के लिए पालिका और जिला प्रशासन गंगा नदी से 500 मीटर दूर तक कूड़ा या अन्य गतिविधियों पर रोक लगाने के बोर्ड बैनर लगाती है। वहीं कूड़ा डंप कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.