Tuesday, Dec 07, 2021
-->
petition-filed-against-ed-director-extension-tenure-retrospective-effect-will-be-heard-rkdsnt

ED निदेशक का कार्यकाल पूर्व प्रभाव से बढ़ाए जाने के खिलाफ दायर याचिका पर होगी सुनवाई  

  • Updated on 4/5/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को कहा कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के निदेशक संजय कुमार मिश्रा की 2018 में नियुक्ति में पूर्वप्रभाव से किए गए बदलाव को चुनौती देने वाली याचिका पर 16 अप्रैल को सुनवाई होगी। इस कारण उनका कार्यकाल दो वर्ष से बढ़कर तीन वर्ष हो गया था। जस्टिस एल. नागेश्वर राव और जस्टिस विनीत सरन की पीठ ने सोलीसीटर जनरल तुषार मेहता के हलफनामे का संज्ञान लिया कि केंद्र का जवाब तैयार है और इसे दायर किया जाएगा। 

असम में एक बूथ पर वोटर सूची में सिर्फ 90 नाम, वोट पड़े 171, चुनाव आयोग सकते में

वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से हुई कार्यवाही में पीठ विधि अधिकारी की याचिका पर सहमत हो गया कि कुछ समय का वक्त दिया जाए और मामले में सुनवाई की तारीख 16 अप्रैल तय की। संक्षिप्त सुनवाई के दौरान मेहता ने कार्यकर्ता वकील प्रशांत भूषण पर प्रहार किया जो याचिकाकर्ता एनजीओ ‘कॉमन कॉज’ की तरफ से पेश हुए थे। 

फ्रांस में भी गूंजा राफेल डील का मुद्दा, कांग्रेस ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

मेहता ने कहा, ‘‘इस तरह के जन उत्साही लोगों द्वारा आपकी गरिमा का ख्याल नहीं रखा जाता है।’’ भूषण ने कहा, ‘‘उन्हें मुझे गाली देने दीजिए लेकिन हम दिखाएंगे कि किस तरह से इस संगठन (एनजीओ) ने मामले दायर किए जिनमें कई आदेश पारित हुए हैं।’’ पीठ ने मामले की सुनवाई अगले हफ्ते शुक्रवार तय की है। 

कोरोना टीकाकरण केंद्रों को लेकर केजरीवाल ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी मिश्रा की नियुक्ति 19 नवंबर 2018 को एक आदेश द्वारा दो वर्षों के लिए ईडी निदेशक के पद पर की गई। बाद में 13 नवंबर 2020 को ‘‘पूर्व प्रभाव’’ से केंद्र सरकार ने उनके नियुक्ति पत्र में संशोधन किया और उनके कार्यकाल को ‘दो’ वर्ष के बजाए ‘तीन’ वर्ष कर दिया गया।

CBI निदेशक की नियुक्ति को लेकर सुप्रीम कोर्ट का मोदी सरकार को निर्देश

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.