Monday, Aug 02, 2021
-->
petrol-and-diesel-prices-at-record-level-dharmendra-pradhan-again-clarified-rkdsnt

रिकॉर्ड स्तर पर पेट्रोल और डीजल के दाम, धर्मेंद्र प्रधान ने हाथ खड़े किए 

  • Updated on 6/13/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। रिकॉर्ड स्तर पर पेट्रोल और डीजल के दाम पहुंचने के बाद केंद्र की मोदी सरकार लोगों और विपक्ष के निशाने पर आ गई है। इस बीच पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने  फिर से सफाई दी है। उन्होंने कहा है कि कोरोना संकट में देश को राजस्व  की जरुरत है, ऐसे में दामों को कम नहीं किया जा सकता है।

भाजपा से गठबंधन से राजभर का इनकार, अमित शाह के बुलाने पर भी नहीं मानेंगे

प्रधान ने कहा कि राजस्थान और महाराष्ट्र जैसे गैर भाजप शासित राज्यों को ईंधन पर टैक्स में कटौती करनी चाहिए। हालांकि, उन्होंने इस पर चुप्पी साध ली कि क्या भाजपा शासित मध्य प्रदेश और कर्नाटक जैसे राज्य भी ऐसा करेंगे, जहां पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर से ऊपर जा चुका है।

घोटाले के आरोपों पर रामजन्मभूमि ट्रस्ट के सचिव चंपत राय ने दी प्रतिक्रिया

प्रधान ने आगे कहा कि अगर कांग्रेस आम आदमी पर वाहन ईंधन कीमतों के बढ़ते बोझ की वजह से चिंतित है, तो उसे अपने शासन वाले राज्यों में पेट्रोल और डीजल पर बिक्री कर में कटौती करनी चाहिए। बता दें कि पिछले 6 सप्ताह से कम में पेट्रोल 5.72 रुपये प्रति लीटर और डीजल 6.25 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दाम बढ़ने और ऊंचे केंद्रीय और राज्य करों की वजह से दाम रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गए हैं।

पंजाब में अकाली दल से गठजोड़ से उत्साहित मायावती ने महंगाई पर भाजपा पर बोला हमला

धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को इस बात का उत्तर देना चाहिए कि पंजाब, राजस्थान और महाराष्ट्र जैसे कांग्रेस शासित राज्यों में ईंधन की कीमतें इतनी ज्यादा क्यों हैं? उन्होंने कहा, ‘‘अगर राहुल गांधी गरीबों पर वाहन ईंधन कीमतों की मार से चिंतित हैं तो उन्हें कांग्रेस शासित राज्यों में ईंधन पर करों में कटौती के लिए सीएम से कहना चाहिए।’’

AAP सांसद ने राम जन्म भूमि ट्रस्ट के चंपत राय पर लगाया घोटाले का आरोप


 

comments

.
.
.
.
.