pligrims-takes-holy-dip-at-haridwar-on-buddha-purnima

बुद्ध पूर्णिमा पर 502 साल के बाद बना अदभुत संयोग, हरिद्वार में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब 

  • Updated on 5/18/2019

हरिद्वार/ ब्यूरो। एक ओर जहां देश के प्रधानमंत्री बुद्ध पूर्णिमा पर केदरानाथ बाबा के दर पर पूजा—अर्चना करने पहुंचे तो दूसरी ओर वर्षों बाद बने अदभूत संयोग के बीच देश के कई प्रांतों से पहुंचे श्रद्धालुओं ने बुद्ध पूर्णिमा पर ब्रहृममुहूर्त में हरकी पैड़ी सहित घाटों पर डुबकी लगानी शुरू कर दी। हरकी पैड़ी के अलावा अन्य घाटों पर जबरदस्त श्रद्धालुओं की भीड़ रही। पुलिस और खुफिया विभाग की हर घाटों पर पैनी नजर रही। सुबह हाईवे पर वाहनों का रेला लगा हुआ है। भारी वाहनों को हालांकि प्रतिबंधित कर दिया गया है। 

बुद्ध पूर्णिमा पर मेला क्षेत्र को छह जोन और 18 सेक्टरों में बांटकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की डृयूटी लगाई गई है। हरकी पैड़ी पर रेल, रोडवेज, निजी बस, निजी वाहनों से बनाई गई पार्किंग तक श्रद्धालुओं का बीते देर रात से ही पहुंचना शुरू हो गया था। इस दौरान जिलाधिकारी दीपक रावत, एसएसपी जन्मेजय खंडूरी, एसपी अपराध मंजूनाथ टीसी, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, एसपी देहात नवनीत सिंह भुल्लर सहित तमाम क्षेत्राधिकारियों ने मेला क्षेत्र का भ्रमण किया। 

हाईवे पर यातायात दबाव बढ़ा सुबह ही रूट डाईवर्ट
हाईवे पर यातायात का दबाव तड़के बढ़ गया जिसकी वजह से वेस्ट यूपी से आने वाले वाहनों को फलोदा, लक्सर, खानपुर, फेरुपुर होते हुए लाया गया। यूपी के बिजनौर से आ रहे वाहन भी चीला मार्ग से होते हुए ही ऋषिकेश के लिए रवाना किये गये।

ऋषिकेश से दिल्ली जाने के लिए चीला मार्ग से मीरापुर, मेरठ होते हुए वाहनों को डाइर्वट किया गया है। ऋषिकेश—देहरादून वाले भी चीला मार्ग का ही उपयोग कर रहे हैं। यातायात निरीक्षक हितेश कुमार ने बताया कि तड़के से सुबह तक जबरदस्त भीड़ हाईवे पर रही। जिसकी वजह से यातायात को डाईवर्ट करना पड़ा। 

502 सालों के बाद बना है अदभूत संयोग  
ज्योतिषाचार्य पंडित शक्ति धर शर्मा शास्त्री ने बताया कि बुद्ध पूर्णिमा पर समसप्तक संयोग बन रहा है। शनि केतु और मंगल राहु का 502 सालों के बाद दुर्लभ संयोग बना है। इससे पूर्व यह संयोग 16 मई 1517 में बना था और आगे ऐसा संयोग 205 वर्ष बाद 2 जून 2224 को बनेगा। इस दिन स्नान दान और पूजा पाठ करने से सारे कष्ट दूर हो जाएंगे। 

टिहरी गढ़वाल से हरकी पैड़ी में जगदीशिला डोली ने किया पावन स्नान 
टिहरी गढ़वाल के विशोन पर्वत से 17 मई को भगवान भगवान विश्वनाथ मां जगदीशिला डोली यात्रा का प्रारंभ मंत्री प्रसाद नैथानी पूर्व कैबिनेट मंत्री उत्तराखंड सरकार के संयोजन में शुरू हुआ। बुद्ध पूर्णिमा पर ये डोली हरकी पैडी पहुंची और डोलियां पावन गंगा स्नान किया। डोली की उत्तराखंड में 26 दिवसीय यात्रा होगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.