Wednesday, Sep 28, 2022
-->
pm kisan samman nidhi scheme can also take advantage registration prshnt

जानें किन नियमों के अतंर्गत PM किसान सम्मान निधि योजना में खेती न करने वाले लोग भी ले सकते हैं फायदा

  • Updated on 5/2/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में किसानों की मदद के लिए पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM-Kisan Samman Nidhi) की शुरुआत की गई, जिससे कि किसानों को सीधे नगद का लाभ दिया जा सके। ताकि किसान जरूरत पड़ने पर बिना किसी कर्ज के अपनी खेती-बाड़ी संभाल सके। इसके तहत सरकार से 6000 रुपये सालाना की रकम 2000 रुपये की तीन किस्तों में हर 4 महीने पर उन्हें दी जाती है।

इस स्किम के दायरे में सरकारी नौकरियां करने वाले जनप्रतिनिधि, इनकम टैक्स के दायरे में आने वाले लोग शामिल नहीं है। लेकिन बावजूद इसके कुछ ऐसे लोग भी हैं जो अपनी खेती योग्य जमीन पर खेती भले नहीं करते हो लेकिन उन्हें भी इस स्कीम का फायदा मिल सकता है।

कोरोना से जंग: IIT दिल्ली ने तैयारी की 'शुद्ध सेतु' नाम की सेनिटाइजेशन टनल

सरकारी नौकरी वालों को भी मिल सकता है इसका फायदा
दरअसल पीएम किसान सम्मान निधि योजना स्कीम के तहत भले ही सरकारी नौकरी करने वालों को इसका फायदा ना मिलता है लेकिन चतुर्थ श्रेणी या कर्मचारी या मल्टी टास्किंग स्टाफ के तौर पर जुड़े लोग इसके तहत खुद को रजिस्टर करा सकते हैं। इसमें भले ही वे अपने खेती योग्य जमीन पर खेती ना करते हो या करते हो वह इसका फायदा ले सकते हैं।

हालांकि इसके लिए यह जरूरी है कि उन्होंने अपनी खेती की जमीन का इस्तेमाल किसी और चीज में ना किया हो जैसे मकान या दुकान बना लेना, यह कोई और गतिविधि करना। अगर किसी ने खेती योग्य भूमि का इस्तेमाल किसी और चीज में किया तो उसे इस स्कीम का लाभ नहीं मिलेगा।

लॉकडाउन: बढ़ रहा ऑनलाइन शिक्षा का महत्व, जानें क्या है शिक्षकों की राय

सभी खेती के जमीन पर मिलेगा फायदा
जो किसान अपनी खेती योग्य भूमि पर खेती ना करता हो उसे बंजर छोड़ दिया जाता है तब भी इस स्कीम का लाभ उसे नहीं मिला मिलेगा। हालांकि यह स्कीम खेती करने वाले भूमि या गांव में हो या शहर में हो दोनों को मिलेगी दोनों को इसका फायदा होगा

यहां सामान्य तौर पर एक सवाल सामने आता है कि अगर किसी लाभार्थी किसान की मृत्यु हो जाती है तो उसके परिवार वालों को क्या इसका लाभ मिलेगा। इसका जवाब है यदि उसकी जमीन परिवार वालों के नाम पर ट्रांसफर होती है, तो उन्हें यह लाभ मिल सकेगा अगर वह जमीन किसी और को बेच दी जाती है तो संबंधित व्यक्ति को ही स्कीम का लाभ मिलेगा जिसके नाम पर जमीन होगी।

ऑनलाइन क्लास में हो रही अभद्रता, महिला शिक्षकों से साथ हुई छेड़-छाड़

2019 फरवरी में लाया गया था स्किम
गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी सरकार ने 2019 फरवरी में पीएम किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की थी। सरकार की ओर से इस तर्क के साथ यह स्कीम लांच किया गया था कि कर्ज की माफी कराना स्थाई समाधान नहीं है इसलिए इस तरह के स्कीम से किसानों को राहत मिल सकेगी और वे कर्ज में डूबने से बच सकेंगे।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

comments

.
.
.
.
.