Thursday, Jan 20, 2022
-->
pm modi again emphasized on vocal for local  said post on social media after shopping albsnt

PM मोदी ने फिर से 'वोकल फॉर लोकल' पर दिया जोर, कहा- खरीददारी करके सोशल मीडिया पर करें पोस्ट

  • Updated on 10/24/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मन की बात में देशवासियों को हाल ही में 100 करोड़ के वैक्सीनेशन प्रोग्राम पूरे होने की बधाई दी है। उन्होंने आज अपने मन की बात में दिवाली की बधाई देते हुए अपील की हम सबको भारत में निर्मित सामानों की ही खरीददारी करनी चाहिये। उन्होंने लोगों से वोकल फॉर लोकल को मजबूत करने का भी आह्वाण किया। पीएम ने अपने संबोधन में यह भी कहा कि जब हम स्वदेशी सामना खरीदते है तो उसकी एक फोटो सोशल मीडिया पर भी डाले,इससे लोग भी प्रेरित होकर ज्यादा से ज्यादा घरेलू निर्मित सामान खरीदेंगे।

सिद्धू के नहीं बदले तेवर! पंजाब कांग्रेस की कलह फिर से आई सामने, पार्टी भी असमंजस में

बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आगामी 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस के उपलक्ष्य में देश में एकता कायम करने में सरदार बल्लभ भाई पटेल की भूमिका को याद करना चाहिये। उन्होंने कहा कि 31 अक्टूबर को तीन प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएगी। अपने मन की बात में पीएम नरेंद्र मोदी ने देश के हेल्थवर्कर्स की सराहना की।

हार की कगार पर भाजपा, गोवा में मुख्यमंत्री बदलने की तैयारी में, जनता बनाएगी आप सरकार: सिसोदिया   

मालूम हो कि पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि 100 करोड़ के लक्ष्य को हासिल करने में इन हेल्थवर्कर्स ने अथक मेहनत किये है। तब जाकर यह लक्ष्य हासिल हुआ है। वहीं उन्होंने देश की महिलाओं की भी जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि जिस तरह से देश से लेकर संयुक्त राष्ट्र तक महिलाओं ने अपनी उपस्थिति का लोहा मनवाया है,वो हम सबको गौरवान्वित करता है। पीएम संयुक्त राष्ट्र में चीन और पाकिस्तान को करारा जवाब देनी वाली भारतीय राजनयिक की और इशारा कर रहे थे। पीएम ने इस बात पर भी बल दिया कि हम सबका समान नीति देश की एकता को मजबूत करने की होनी चाहिये। उन्होंने बिरसा मुंडा को भी याद करते हुए उन्हें महान व्यक्ति बताया।    

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.