Sunday, Feb 28, 2021
-->
PM Modi Congratulate Nation DCGI granted corona vaccine emergency use KMBSNT

कोरोना वैक्सीन को DCGI की मंजूरी पर PM मोदी ने देशवासियों को दी बधाई, कही ये बात

  • Updated on 1/3/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। ड्रग कंट्रोल ऑफ इंडिया (DCGI) की ओर से सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की वैक्सीन 'कोविड शील्ड' (Covishield) और भारत बायोटेक की वैक्सीन 'कोवैक्सीन' (Covaxin) के इमरजेंसी उपयोग को मंजूरी मिल गई है। इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने खुशी जाहिर करते हुए देशवासियों और वैक्सीन की खोज में लगे भारतीय वैज्ञानिकों को बधाई दी है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा है कि एक उत्साही लड़ाई को मजबूत करने के लिए एक निर्णायक मोड़! DCGI ने भारत के सीरम संस्थान और भारत बायोटेक के टीकों को स्वीकृति प्रदान करते हुए स्वस्थ और COVID मुक्त राष्ट्र के लिए मार्ग को तेज किया है। भारत को बधाई। हमारे मेहनती वैज्ञानिकों और नवप्रवर्तनकर्ताओं को बधाई। 

कोविड-19 हॉटस्पॉट बना चेन्नई का आलीशान होटल, 85 लोग पाए गए संक्रमित

दोनो वैक्सीन मेड इन इंडिया
एक अन्य ट्वीट करते हुए पीएम मोदी ने लिखा है कि इस पर हर भारतीय को गर्व होगा कि जिन दो टीकों को आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दी गई है वे भारत में बने हैं! एक आत्मानिभर भारत के सपने को पूरा करने के लिए यह हमारे वैज्ञानिक समुदाय की उत्सुकता को दर्शाता है, जिसके मूल में देखभाल और करुणा है।

डॉक्टरों समेत कोरोना वारियर्स को दिया धन्यवाद
प्रधानमंत्री ने  ट्वीट करते हुए लिखा कि हम डॉक्टरों, चिकित्सा कर्मचारियों, वैज्ञानिकों, पुलिस कर्मियों, स्वच्छता कार्यकर्ताओं और सभी कोरोना योद्धाओं द्वारा विपरीत परिस्थितियों में किए गए उत्कृष्ट कार्यों के लिए अपना आभार दोहराते हैं। हम कई लोगों की जान बचाने के लिए उनके प्रति सदा आभारी रहेंगे।

यहां मिलेगी वैक्सीन की पूरी जानकारी
तैयार वैक्सीन विभिन्न स्तर को पार कर अब अपने फाइनल स्टेज पर है और भारत सरकार जल्द ही इस वैक्सीन को अनुमति दे सकती है। वैक्सीन से जुड़ी सम्पूर्ण और पूर्ण जानकारी के लिए www.mohfw.gov.in पर विजिट कर सकते हैं। जानकारों की माने तो सुरक्षा के लिहाज से कोविशील्ड ने अपेक्षित प्रतिकूल स्थितियों में अच्छा प्रदर्शन किया। अधिकतर अपेक्षित प्रतिक्रियाएं गंभीरता के लिहाज से बहुत मामूली थीं और उन्हें सुलझा लिया गया तथा कोई अन्य लक्षण नहीं दिखाई दिये। इसलिए कोविशील्ड सुरक्षित है और लक्षित जनसंख्या पर कोविड-19 की रोकथाम के लिए इसका प्रभावी तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि हल्का बुखार, गले में खराश या फिर हल्का सिरदर्द हो सकता है।

देश के सभी राज्यों समेत, केंद्र शासित प्रदेशों में हुआ कोरोना टीका का पूर्वाभ्यास

इन लोगों को दी जाएगी वैक्सीन 
वहीँ, बताया जा रहा है कि शुरूआत में देश के 30 करोड़ लोगों को वैक्सीन दी जाएगी। इसके लिए सरकार 70 हजार टीकाकर्मी और 30,000 निजी टीकाकर्मियों की सहायता लेगी। साथ ही कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए हेल्थ केयर वर्कर का पंजीकरण शुरू किया गया है। कई पंजीकृत अस्पताल और नर्सिंग होम ने अपने मानव संसाधन संबंधी पूरा ब्योरा दिल्ली सरकार के परिवार कल्याण निदेशालय को भेज दिया है।

ये भी पढ़ें:-

comments

.
.
.
.
.