Monday, Nov 28, 2022
-->
pm-modi-meets-south-african-president-ramaphosa-in-germany

पीएम मोदी ने जर्मनी में दक्षिणी अफ्रीकी राष्ट्रपति रामफोसा से की मुलाकात 

  • Updated on 6/27/2022


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा से मुलाकात की और उन्होंने दोनों देशों के बीच आॢथक और रक्षा सहयोग को बढ़ाने के लिए कई संभावनाओं पर चर्चा की। जी-7 शिखर सम्मेलन के लिए रविवार से दो दिवसीय दौरे पर जर्मनी आए प्रधानमंत्री मोदी ने दक्षिणी जर्मनी के श्लॉस एल्माउ में सम्मेलन के इतर रामफोसा से मुलाकात की।   

मोदी सरकार ने नितिन गुप्ता को बनाया CBDT का नया चेयरमैन

  मोदी ने टवीट किया, ‘‘जर्मनी में राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा से मिलकर खुशी हुई। हमारी वार्ता में आॢथक सहयोग, संपर्क में सुधार और खाद्य प्रसंस्करण और वित्तीय प्रौद्योगिकी (फिनटेक) में संबंधों को प्रगाढ़ करने सहित विविध क्षेत्रों को शामिल किया गया।’’  

कोर्ट ने बढ़ाई दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की न्यायिक हिरासत 

    प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट््िवटर पर कहा, ‘‘एक मूल्यवान साझेदार के साथ संबंधों को मजबूत किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने जी7 सम्मेलन से इतर बातचीत की। उन्होंने व्यापार और दोनों देशों की जनता के स्तर पर संबंधों को बढ़ावा देने के तरीकों सहित भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच मैत्रीपूर्ण संबंधों पर चर्चा की।’’ विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि दोनों नेताओं ने ‘‘व्यापार, निवेश, रक्षा, फार्मास्यूटिकल्स और खाद्य सुरक्षा के क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों को और बढ़ाने पर चर्चा की। वे क्षेत्रीय और बहुपक्षीय दोनों मंचों पर घनिष्ठ सहयोग जारी रखने पर सहमत हुए।’’   

सिन्हा के पक्ष में विपक्षी नेताओं ने कहा- राष्ट्रपति चुनाव में मुकाबला दो विचारधाराओं के बीच 

  भारत के अलावा, जी7 शिखर सम्मेलन के मेजबान, जर्मनी ने अर्जेंटीना, इंडोनेशिया, सेनेगल और दक्षिण अफ्रीका को अतिथि के रूप में आमंत्रित किया है। सात देशों के इस समूह (जी7) में कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, ब्रिटेन और अमेरिका शामिल हैं। वर्ष 2019 में भारत के 70वें गणतंत्र दिवस समारोह में राष्ट्रपति रामफोसा मुख्य अतिथि थे।  वर्ष 2022 दोनों देशों के बीच 25 साल की रणनीतिक साझेदारी का प्रतीक है।     

जर्मनी में मोदी को 2014 तक की भारत की उपलब्धियों को स्वीकार करना चाहिए था: चिदंबरम 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.