Thursday, Dec 08, 2022
-->
pm modi met people of sikh community at his residence before punjab elections rkdsnt

पंजाब चुनाव से पहले अपने आवास पर सिख समुदाय के खास लोगों से मिले PM मोदी

  • Updated on 2/18/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को अपने आवास पर सिख समुदाय के कई प्रमुख लोगों की मेजबानी की और उनकी सरकार द्वारा समुदाय के लिए किए गए कार्यों को रेखांकित किया। पंजाब में विधानसभा चुनाव से दो दिन पहले यह मुलाकात हुई है। भारतीय जनता पार्टी राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की पंजाब लोक कांग्रेस तथा अकाली दल के सुखदेव सिंह ढींढसा धड़े के साथ गठबंधन करने के साथ ही सिख समुदाय को लुभाने में जी जान से जुटी है।

AAP का अर्थ है अरविंद एंटी पंजाब : अनुराग ठाकुर

 

NSE की पूर्व MD चित्रा रामकृष्ण, आनंद सुब्रमण्यम के परिसरों पर आयकर विभाग के छापे

भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने बैठक में कहा कि वह हर दिन समुदाय के लिए काम करना चाहते हैं और उन्होंने अफसोस जताया कि पिछली कांग्रेस सरकारों ने करतारपुर साहिब जैसे सिखों के पवित्र स्थलों को भारतीय क्षेत्र में लाने के मौके गंवा दिए। सिरसा ने एक संवाददाता सम्मेलन में मोदी के हवाले से कहा कि यदि प्रयास किए जाते तो पाकिस्तान के साथ 1965 और 1971 के युद्धों के बाद वह क्षेत्र भारत को मिल सकता था। 

भैया टिप्पणी को लेकर चन्नी से खफा मोदी, AAP पर लगाया विभाजनकारी एजेंडा अपनाने का आरोप

मोदी अक्सर कांग्रेस की आलोचना करते रहे हैं कि 1947 में भारत के विभाजन के समय करतारपुर साहिब पाकिस्तान में नहीं जाए, यह सुनिश्चित करने के लिए कांग्रेस ने कोई कदम नहीं उठाया। सिरसा ने कहा कि सिखों को पीड़ा है कि उनसे किए गए कई वादे पूरे नहीं हुए हैं, लेकिन मोदी सरकार ने करतारपुर साहिब के लिए गलियारा खोलने, गुरु गोङ्क्षबद सिंह के पुत्रों की शहादत को मनाने का निर्णय लेने सहित कई ÞऐतिहासिकÞ काम किए हैं।     

कुमार विश्वास के बयान पर बरसे AAP के राघव चढ्डा, चुनाव आयोग भी सक्रिय

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मोदी से मुलाकात करने वाले सिख समुदाय के लोगों में दिल्ली गुरुद्वारा समिति के अध्यक्ष हरमीत सिंह कालका, पद्म श्री से सम्मानित बाबा बलबीर सिंह जी सीचेवाल, यमुना नगर में सेवापंथी के महंत करमजीत सिंह, करनाल में डेरा बाबा जंग सिंह के बाबा जोगा सिंह और अमृतसर में मुखी डेरा बाबा तारा सिंह वा के संत बाबा मेजर सिंह वा शामिल थे।     

उन्होंने बताया कि आनंदपुर साहिब में कार सेवा के जत्थेदार बाबा साहिब सिंह, भेनी साहिब के सुरिंदर सिंह नामधारी दरबार, शिरोमणि अकाली बुद्ध दल के बाबा जस्सा सिंह, दमदमी टकसाल के हरभजन सिंह और तख्त श्री पटना साहिब के जत्थेदार ज्ञानी रणजीत सिंह भी बैठक में शामिल हुए।   

AAP पर कांग्रेस, BJP के हमले के बाद राघव ने संभाला मोर्चा, पंजाब की जनता को किया अलर्ट

प्रधानमंत्री के साथ बैठक के बाद उन लोगों ने समुदाय के लिए उनके काम की सराहना की। करमजीत सिंह ने मोदी के हवाले से कहा कि 'सिखी' (सिखों से जुड़े गुण)और सेवा उनके खून में है और यह हमारे दिलों को छू गया। सिंह ने समुदाय के लिए लंगरों पर ‘जीएसटी’ हटाने सहित सरकार की विभिन्न पहलों की सराहना की।  कालका ने 1984 के सिख विरोधी दंगों में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई के लिए सरकार द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) का उल्लेख किया और प्रधानमंत्री मोदी की प्रशंसा की।     

comments

.
.
.
.
.