Monday, Oct 25, 2021
-->
pm modi- msp will neither end nor stop with farmers prshnt

मध्य प्रदेशः किसानों से बोले PM मोदी- MSP न खत्म होगी न बंद

  • Updated on 12/18/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। मध्य प्रदेश के किसानों से संवाद करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि फसलों पर किसानों को मिलने वाला एमएसपी न कभी खत्म होगी न बंद। उन्होंने किसानों को कहा कि उनकी चिता दूर करने के लिए सरकार हमेशा तैयार है। 

पीएम मोदी ने कहा कि अगर हमें MSP हटानी ही होती तो स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट लागू ही क्यों करते? दूसरा ये कि हमारी सरकार MSP को लेकर इतनी गंभीर है कि हर बार, बुवाई से पहले MSP की घोषणा करती है। इससे किसान को भी आसानी होती है, उन्हें भी पहले पता चल जाता है कि इस फसल पर इतनी MSP मिलने वाली है।

किसान सम्मेलनों में खरीफ 2020 में हुए फसलों के नुकसान की 1600 करोड़ रुपये की राहत राशि राज्य के लगभग 35.50 लाख किसानों के खातों में डाली जाएगी। मध्य प्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि मुख्यमंत्री चौहान ने 18 दिसंबर को राज्य में हो रहे चार स्तरीय किसान कल्याण कार्यक्रम और सम्मेलनों के संबंध में वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से विस्तृत निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि राज्य स्तरीय महासम्मेलन रायसेन में होगा, जिसमें मुख्यमंत्री चौहान शामिल होंगे। अन्य सम्मेलन जिला, विकासखंड और ग्राम पंचायत स्तर पर होंगे। अधिकारी ने बताया,‘इन किसान सम्मेलनों में खरीफ 2020 में हुए फसलों के नुकसान की 1600 करोड़ रुपये की राहत राशि किसानों के खातों में अंतरित की जाएगी। इससे करीब 35.50 लाख किसान लाभान्वित होंगे।’

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री रायसेन में राज्य स्तरीय मुख्य कार्यक्रम में शामिल होंगे, जिसमें लगभग 20,000 किसान सम्मिलित होंगे। अन्य जिलों में मंत्री इन कार्यक्रमों में किसानों को राहत राशि का वितरण करेंगे। इसी तरह के कार्यक्रम ब्लॉक और ग्रामीण स्तर पर भी होंगे। अधिकारी ने बताया कि कोविड-19 महामारी के चलते मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिए कि इन किसान कल्याण कार्यक्रम और सम्मेलनों में सामाजिक दूरी बनाये रखने संबंधी नियम का पालन अवश्य हो। सभी किसान मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें।

उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री चौहान के संबोधन के पश्चात प्रधानमंत्री मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा किसानों को दोपहर लगभग दो बजे संबोधित करेंगे। अधिकारी ने बताया कि नए कृषि कानूनों के लाभकारी प्रावधानों के संबंध में किसानों को विस्तार से इन सम्मेलनों में जानकारी प्रदान की जाएगी।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.