Monday, Nov 28, 2022
-->
pm-modi-on-a-two-day-visit-to-karnataka-from-today

आज से कर्नाटक के दो दिवसीय दौरे पर पीएम मोदी, कई बड़ी परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन

  • Updated on 6/20/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सोमवार से कर्नाटक के दो दिवसीय दौरे पर हैं। इस दौरान पीएम मोदी 27,000 करोड़ रुपये से अधिक की कई रेल और सड़क बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। पीएमओ के अनुसार, सोमवार दोपहर करीब साढ़े बारह बजे प्रधानमंत्री भारतीय विज्ञान संस्थान (IISC) बेंगलुरु जाएंगे, जहां वह सेंटर फॉर ब्रेन रिसर्च (CBR) का उद्घाटन करेंगे और बागची-पार्थसारथी मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल की आधारशिला रखेंगे।

इस केंद्र को अपनी तरह की एक शोध सुविधा के रूप में विकसित किया गया है और उम्र से संबंधित मस्तिष्क विकारों के प्रबंधन के लिए महत्वपूर्ण शोध करने पर ध्यान केंद्रित किया गया है।

पीएम मोदी 832 बिस्तरों वाले बागची पार्थसारथी मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल की आधारशिला भी रखेंगे। अस्पताल आईआईएससी बेंगलुरु के परिसर में विकसित किया जाएगा और प्रतिष्ठित संस्थान में विज्ञान, इंजीनियरिंग और चिकित्सा को एकीकृत करने में मदद करेगा।

बेंगलुरू में गतिशीलता बढ़ाने और कनेक्टिविटी बढ़ाने की दिशा में पीएम बेंगलुरु उपनगरीय रेल परियोजना (बीएसआरपी) की आधारशिला रखेंगे, जो बेंगलुरु शहर को उसके उपनगरों और सैटेलाइट टाउनशिप से जोड़ेगी। इस परियोजना को 15,700 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनाया जाना है। इसमें 148 किलोमीटर से अधिक की कुल लंबाई के साथ 4 कॉरिडोर की परिकल्पना की गई है।

वह बेंगलुरु रिंग रोड परियोजना के दो खंडों की आधारशिला भी रखेंगे। 2280 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से विकसित की जाने वाली इस परियोजना से शहर में यातायात की भीड़ को कम करने में मदद मिलेगी।

पीएम मोदी अखिल भारतीय भाषण और श्रवण संस्थान (AIISH) में 'संचार विकार वाले व्यक्तियों के लिए उत्कृष्टता केंद्र' भी राष्ट्र को समर्पित करेंगे। 

इसके बाद शाम करीब 7 बजे वे मैसूर के श्री सुत्तूर मठ जाएंगे और शाम करीब 7:45 बजे पीएम मोदी मैसूर के श्री चामुंडेश्वरी मंदिर जाएंगे। 21 जून को, आठवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (IDY) के अवसर पर, प्रधानमंत्री सुबह 6:30 बजे मैसूर के मैसूर पैलेस मैदान में एक सामूहिक योग प्रदर्शन में हजारों प्रतिभागियों के साथ भाग लेंगे।

comments

.
.
.
.
.