Sunday, Oct 17, 2021
-->
pm modi releases commemorative coin on the 125th birth anniversary of srila prabhupada

प्रधानमंत्री मोदी ने श्रील प्रभुपाद के की 125वीं जयंती पर स्मारक सिक्का किया जारी

  • Updated on 9/1/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को इस्कॉन के संस्थापक श्रील एसी भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद की 125 वीं जयंती का उद्घाटन किया और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उनके सम्मान में 125 रुपए का स्मारक सिक्का जारी किया। इस मौके पर 60 से अधिक देशों के 600 इस्कॉन मंदिरों और भक्तों को संबोधित करते हुए मोदी ने स्वामी प्रभुपाद को एक अलौकिक कृष्ण भक्त बताया।

श्रीभाद्रपद के इस अष्टमी पर है श्रीकृष्ण का 5248वां बर्थडे, जानें विस्तार से

इस्कॉन ने दुनिया को बताया आस्था का मतलब 
उन्होंने कहा कि स्वामी जी ने देश विदेश में 100 से अधिक मंदिरों की स्थापना की और दुनिया को भक्तियोग का मार्ग दिखाने वाली कई कि ताबें लिखीं। इस समय दुनिया के अलग-अलग देशों में स्थित इस्कॉन मंदिर और गुरुकुल भारतीय संस्कृति को जीवंत बनाए हुए हैं। इस्कॉन ने दुनिया को बताया है कि आस्था का मतलब उमंग, उत्साह और उल्लास और मानवता व विश्वास है। प्रधानमंत्री ने विद्वानों का हवाला देते हुए कहा कि अगर भक्तिकाल की सामाजिक क्रांति न होती तो भारत न जाने कहां होता और किस स्वरूप में होता।

जानें, दिल्ली के किस क्षेत्र में श्रीकृष्ण ने बनवाया था बड़ी बहन का मंदिर

प्रभुपाद ने भक्ति वेदांत को दुनिया की चेतना से जोड़ने का काम किया 
उस कठिन समय में चैतन्य महाप्रभु, स्वामी विवेकानंद जैसे मनीषी आए। वहीं विश्व को जब भक्तियोग को देने की जिम्मेदारी आई तो श्रील प्रभुपाद और इस्कॉन ने इस महान कार्य का बीड़ा उठाया। उन्होंने भक्ति वेदान्त को दुनिया की चेतना से जोडऩे का काम किया। केंद्रीय संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी, विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी और इस्कॉन से जुड़े तमाम पदाधिकारी व भक्त भी इस कार्यक्रम में उपस्थित हुए। इस अवसर पर इस्कॉन के राष्ट्रीय सूचना निदेशक व्रजेंद्र नंदन दास ने कहा कि इस ऐतिहासिक वर्ष की स्मृति में दुनिया भर में कई अलग-अलग कार्यक्रमों की योजना बनाई गई है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.