Friday, Dec 03, 2021
-->
pm modi says brand india be taken forward government stands industry rkdsnt

‘ब्रांड इंडिया’ को आगे बढ़ाना है, सरकार हर समय उद्योग के साथ खड़ी: PM मोदी

  • Updated on 8/11/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को उद्योग जगत से देश में विनिर्माण को गति देने और ‘ब्रांड इंडिया’ को आगे बढ़ाने का आह्वान करते हुए कहा कि सरकार हमेशा उनकी समस्याओं को दूर करने के लिये उनके साथ खड़ी है।       भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) की सालाना बैठक को ‘ऑनलाइन’ संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था फिर से तेजी से आगे बढ़ रही है और विभिन्न क्षेत्रों में नये अवसर सृजित हो रहे हैं। 

प्रियंका गांधी बोलीं- उज्ज्वला के तहत मिले 90 फीसदी सिलेंडर खा रहे हैं धूल

उद्योग जगत से देश में विनिर्माण को गति देने का आह्वान करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘हमें आपकी (उद्योग) भागीदारी के साथ ब्रांड इंडिया को आगे बढ़ाना है, मैं आपके लिये हमेशा खड़ा रहा हूं और खड़ा रहूंगा।’  प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार कारोबार सुगमता के लिये सुधारों को तेजी से आगे बढ़ा रही है और महामारी के दौरान भी हमने इस दिशा में कई महत्वपूर्ण कदम उठाये हैं। 

यशवंत सिन्हा के राष्ट्र मंच ने की जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल करने की मांग 

उन्होंने कहा, ‘‘हमने हाल में कंपनी कानून में बदलाव कर कई प्रावधानों को अपराध की श्रेणी से हटाया... श्रम सुधारों पर ध्यान दिया जा रहा है।’’ मोदी ने कहा, ‘‘हमने संसद के मौजूदा सत्र में... अतीत की गलतियों को सुधारते हुए पूर्व तिथि से कर लगाने के कानून को समाप्त किया। इससे उद्योग के बीच भरोसा बढ़ेगा।’’  उन्होंने कहा कि भारत में आज प्रतिस्पर्धी कर व्यवस्था है, कारोबार सुगमता में हम तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। सुधारों का ही नतीजा है कि देश में रिकार्ड प्रत्यक्ष विदेशी निवेश आ रहा है। 

तत्काल सुनवाई के मामलों में वरिष्ठ वकीलों को प्राथमिकता नहीं देने के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘हम सुधारों को बाध्यता के तहत नहीं बल्कि एक भरोसे और मजबूती के साथ आगे बढ़ा रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि देश में आज हर क्षेत्र में आत्मविश्वास बढ़ रहा है। स्टार्टअप देश की पहचान बन रहे हैं और आज देश में 60 ‘यूनिकार्न’ हैं। इनमें से 21 तो पिछले कुछ माह के दौरान ही इस स्तर पर पहुंचे हैं। मोदी ने कहा कि भारत में आॢथक वृद्धि को गति देने के शानदार अवसर हैं और उद्योग जगत को इसका लाभ उठाना चाहिए।

कानून निर्माताओं के खिलाफ दर्ज केस हाई कोर्ट की इजाजत के बिना वापस नहीं ले सकते: सुप्रीम कोर्ट

comments

.
.
.
.
.