Sunday, Apr 11, 2021
-->
pm modi speaks at sco summit india raised voice against terrorism pragnt

SCO समिट में बोले PM मोदी: UN का मूल लक्ष्य अधूरा, भारत ने आतंकवाद के खिलाफ उठाई आवाज

  • Updated on 11/10/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) में एलएसी पर भारत और चीन में जारी टकराव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) एक साथ एक मंच साझा किया। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की अध्यक्षता में दोपहर 2 बजे एससीओ की बैठक होने जा रही है। 

बिहार चुनाव में जीता NDA तो नीतीश कुमार फिर बनेंगे CM! बीजेपी ने बताया आगे का प्लान...

एससीओ समिट में बोले PM मोदी
शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के शिखर सम्मेलन को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र का मूल लक्ष्य अभी अधूरा है और कोरोना वायरस महामारी की आर्थिक और सामाजिक पीड़ा से जूझ रहे विश्व को उसकी व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन की अपेक्षा है। एससीओ के राष्ट्र प्रमुखों की परिषद के 20वें शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी ने कहा कि भारत का शांति, सुरक्षा और समृद्धि पर दृढ़ विश्वास है। और हमने हमेशा आतंकवाद, अवैध हथियारों की तस्करी, ड्रग्स और मनी लॉन्डरिंग के विरोध में आवाज उठाई है।

पेंशन के अब ऑनलाइन जारी हो सकता है लाइफ सर्टिफिकेट, जानिएं कैसे करें अप्लाई

'संयुक्त राष्ट्र का मूल लक्ष्य अभी अधूरा'
पीएम ने एससीओ के एजेंडे में द्विपक्षीय मुद्दों को लाने के प्रयासों को 'दुर्भाग्यपूर्ण' करार दिया और कहा कि भारत एससीओ चार्टर में निर्धारित सिद्धांतों के अनुसार काम करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा, 'संयुक्त राष्ट्र ने अपने 75 वर्ष पूरे किए हैं। लेकिन अनेक सफलताओं के बाद भी संयुक्त राष्ट्र का मूल लक्ष्य अभी अधूरा है। महामारी की आर्थिक और सामाजिक पीड़ा से जूझ रहे विश्व की अपेक्षा है कि संयुक्त राष्ट्र की व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन आए।'

Bihar Election Result: सीमांचल में चला ओवैसी फैक्टर , 11 सीटों पर NDA आगे

भारत ने 150 से अधिक देशों को आवश्यक दवाएं भेजी
उन्होंने आज की वैश्विक वास्तविकताओं को दर्शाने वाले और सभी हितधारकों की अपेक्षाओं, समकालीन चुनौतियों तथा मानव कल्याण जैसे विषयों पर चर्चा के लिए 'बहुपक्षवाद' की आवश्यकता पर बल दिया और उम्मीद जताई कि इस प्रयास में एससीओ के सदस्य राष्ट्रों का पूर्ण समर्थन मिलेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि अभूतपूर्व महामारी के इस अत्यंत कठिन समय में भी भारत के फार्मा उद्योग ने 150 से अधिक देशों को आवश्यक दवाएं भेजी हैं।

बिहारः रुझानों से गदगद JDU ने कहा- नीतीश के नेतृत्व में NDA फिर सरकार बनाएगा

भारत ने हमेशा उठाई आवाज
उन्होंने भरोसा दिया कि दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन उत्पादक देश के रूप में भारत अपनी वैक्सीन उत्पादन और वितरण क्षमता का उपयोग इस संकट से लड़ने में पूरी मानवता की मदद करने के लिए करेगा। मोदी ने कहा कि भारत का शांति, सुरक्षा और समृद्धि पर दृढ़ विश्वास है और उसने हमेशा आतंकवाद, अवैध हथियारों की तस्करी, मादक द्रव्य और धन शोधन के विरोध में आवाज उठाई है।

Bihar Results: रूझानों के बीच शिवसेना ने की तेजस्वी यादव की तारीफ, कहा- अब शुरू होगा मंगलराज

भारत ने आतंकवाद के खिलाफ उठाई आवाज
उन्होंने कहा, 'भारत एससीओ चार्टर में निर्धारित सिद्धांतों के अनुसार, एससीओ के तहत काम करने की अपनी प्रतिबद्धता में दृढ़ रहा है परन्तु यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि इसके एजेंडे में बार-बार, अनावश्यक रूप से, द्विपक्षीय मुद्दों को लाने के प्रयास हो रहे हैं। यह एससीओ चार्टर और 'शंघाई स्पिरिट' का उल्लंघन करते हैं। इस तरह के प्रयास एससीओ को परिभाषित करने वाली सर्वसम्मति और सहयोग की भावना के विपरीत हैं।'

उप्र की 7 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के नतीजे का भी है भाजपा, सपा, बसपा को इंतजार

आतंकवाद, कोरोना जैसे मुद्दे होंगे चर्चा का विषय
दरअसल, शंघाई सहयोग संगठन (SCO) का डिजिटल सम्मेलन मंगलवार को होगा जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और एससीओ सदस्य देशों के अन्य शीर्ष अधिकारी अनेक समसामयिक विषयों पर चर्चा करेंगे। इस सम्मेलन में आतंकवाद के बढ़ते खतरे और कोरोना वायरस के अर्थव्यवस्था पर पड़े प्रभाव से निपटने के तरीकों जैसे कई विषयों पर चर्चा होगी। इस ऑनलाइन सम्मेलन के जरिए यह पहला मौका होगा जब पूर्वी लद्दाख पर गतिरोध के हालात बनने के बाद से प्रधानमंत्री मोदी और शी जिनपिंग पहली बार आमने सामने होंगे।

वर्षा जल संचय के डूंगरपुर मॉडल को अपनाएगी केजरीवाल सरकार : सत्येंद्र जैन

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री भी लेंगे हिस्सा
इसके अलावा पाकिस्तान (Pakistan) ने सोमवार को घोषणा की कि प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) भी आज ऑनलाइन आयोजित होने वाले एससीओ के सम्मेलन में हिस्सा लिया। विदेश मंत्रालय ने कहा कि एससीओ के राष्ट्र प्रमुखों की परिषद के 20वें शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने किया। एससीओ के सभी आठ सदस्यों के राष्ट्र प्रमुख और चार पर्यवेक्षक देश भी शामिल हुए।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.