Wednesday, Apr 14, 2021
-->
pm modi talks to donald trump targets pakistan without naming

PM मोदी की ट्रंप से बातचीत, बिना नाम लिए पाकिस्तान पर साधा निशाना

  • Updated on 8/20/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मोदी सरकार 2.0 (Modi Government) के द्वारा जम्मू कश्मीर से धारा 370 (ARTICLE 370) निरस्त किए जाने के फैसले के बाद पहली बार शीर्ष स्तर पर हुए संवाद के तहत सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra modi) ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald trump) से टेलीफोन पर बातचीत की। मोदी कहा कि इस क्षेत्र के कुछ नेताओं की तीखे बयानबाजी और भारत के खिलाफ हिंसा को बढ़ावा देना शांति के अनुकूल नहीं है। 

संगीतकार खय्याम का निधन, बॉलीवुड फिल्मों को दी थीं बेहतरीन धुनें

PM मोदी का ट्रंप से बातचीत

पीेएम मोदी (Narendra modi) का यह बयान सीधे तौर पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran khan) की ओर स्पष्ट इशारा करती है। खान पिछले कुछ दिनों से मोदी सरकार और भारत की कार्रवाई के खिलाफ भड़काऊ बयान दे रहे है। प्रधानमंत्री कार्यालय की एक विज्ञप्ति के अनुसार मोदी और ट्रंप के बीच आधे घंटे तक बातचीत चली। यह बातचीत ‘‘गर्मजोशी भरी और सौहार्दपूर्ण’’ तरीके से हुई, जो दोनों नेताओं के बीच संबंधों को दर्शाती है। इस दौरान द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मामलों पर बातचीत की गयी।

फेक न्यूज पर SC से अपील- सोशल मीडिया अकाउंट को आधार से जोड़ा जाए

पाक PM दो दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति से की थी बात

मोदी और ट्रंप की इस बातचीत से दो दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति ने पाक पीेएम इमरान खान (Imran khan) से टेलीफोन पर बातचीत की थी और उनसे कश्मीर मुद्दे (jammu kashmir) को भारत के साथ द्विपक्षीय आधार पर हल करने को कहा था। कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत के खिलाफ अपनी मुहिम जारी रखते हुए खान ने रविवार को भारत सरकार को ‘फासीवादी’ और ‘श्रेष्ठतावादी’ कहा था और आरोप लगाया था कि यह पाकिस्तान और भारत में अल्पसंख्यकों के लिए खतरा है। उन्होंने यह भी कहा था कि दुनिया को भारत के परमाणु की सुरक्षा पर भी गौर करना चाहिए क्योंकि यह न केवल यह क्षेत्र बल्कि विश्व पर असर डालेगा।     

दिल्ली में अब सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता की पत्नी झपटमारों की हुईं शिकार 

क्या है मामला

बता दें कि मोदी सरकार 2.0 ने इस महीने के प्रारंभ में जम्मू कश्मीर (jammu kashmir) को विशेष राज्य का दर्जा  प्रदान करने वालीअनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त कर दिया था और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांट दिया था। इस पर पाकिस्तान (pakistan) ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी। बयान के अनुसार मोदी ने आतंकवाद एवं हिंसा मुक्त माहौल बनाने बनाने के महत्व को रेखांकित किया और और सीमापार आतंकवाद पर हर हाल में रोक लगाने को कहा। विज्ञप्ति के अनुसार प्रधानमंत्री ने गरीबी, निरक्षरता एवं रोगों के खिलाफ इस संघर्ष में साथ देने वाले किसी भी देश के साथ सहयोग करने के भारत के संकल्प को दोहराया।     

उन्नाव कांड: सड़क दुर्घटना मामले की जांच के लिए CBI को मिली मोहलत

मोदी ने अफगानिस्तान की आजादी का 100 वां साल होने की बात की ओर ध्यान दिलाते हुए ‘अंखड, सुरक्षित, लोकतांत्रिक और पूर्णत: स्वतंत्र अफगानिस्तान’ के लिए भारत के पुराने और दृढ़ संकल्प को दोहराया। बातचीत के दौरान मोदी ने जून में जी -20 के मौके पर ओसाका में ट्रंप के साथ अपनी मुलाकात का भी जिक्र किया। बयान में कहा-ओसाका की अपनी द्विपक्षीय बातचीत का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने उम्मीद जतायी कि भारत के वाणिज्य मंत्री और अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि परस्पर लाभ के लिए द्विपक्षीय व्यापार संभावनाओं पर चर्चा के मकसद से शीघ्र ही बैठक करेंगे।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.