Saturday, Mar 06, 2021
-->
pm modi will visit kolkata on 23 january sohsnt

पीएम मोदी 23 जनवरी को जाएंगे कोलकाता, 'पराक्रम दिवस' के समारोह को करेंगे संबोधित

  • Updated on 1/21/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Netaji Subhas Chandra Bose) की 125वीं जयंती के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) 23 जनवरी यानी शनिवार को 'पराक्रम दिवस' (Parakram Diwas) समारोह में शामिल होने कोलकाता जाएंगे। पीएम मोदी इस मौके पर कार्यक्रम को भी संबोधित करेंगे। इसके अलावा पीएम असम के शिवसागर में जेरंगा पाथर भी जाएंगे, पीएमओ (PMO) से मिली जानकारी के अनुसार यहां वे 1.06 लाख भूमि पट्टा/ आवंटन प्रमाण पत्र बांटेगे।

 

विक्टोरिया मेमोरियल हॉल से समारोह की शुरूआत
बता दें कि संस्कृति मंत्रालय (Ministry of Culture) ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती यानी 23 जनवरी को पराक्रम दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया है। नेताजी की 125वीं जयंती को केंद्र सरकार भव्य तरीके से मनाने जा रही है इसे लेकर गठित उच्च स्तरीय कमेटी की अगुआई खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। पीएम मोदी नेताजी सुभाष चंद्र बोस के 125वें जयंती समारोहों की शुरुआत 23 जनवरी को कोलकाता के ऐतिहासिक विक्टोरिया मेमोरियल हॉल से करेंगे।

सुप्रीम कोर्ट ने Aadhaar फैसले की समीक्षा की अपील करने वाली याचिकाओं को किया खारिज

उच्च स्तरीय कमेटी का हुआ गठन
बता दें कि हाल ही में संस्कृति मंत्रालय ने नेताजी की 125वीं जयंती के आयोजन को लेकर उच्च स्तरीय कमेटी के गठन की अधिसूचना जारी की थी। जिसमें राजनेताओं के अलावा लेखक, इतिहासकार सहित आजाद हिंद फौज से जुड़े कई लोगों को शामिल किया गया है। इनमें जो प्रमुख नाम हें, उनमें नेताजी सुभाषचंद्र बोस आइएनए ट्रस्ट के अध्यक्ष बिग्रेडियर आरएस चिकारा, इतिहासकार और लेखिका पूरबी राय, भारतीय किक्रेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली, संगीतकार एआर रहमान, अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती, अभिनेत्री काजोल आदि शामिल हैं। 

गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर परेड : वैकल्पिक मार्ग पर किसान नेताओं ने अपना रुख किया साफ

भारत समेत कई देशों में होगा कार्यक्रम
इसके साथ ही नेताजी सुभाष चंद्र बोस के परिवार के सदस्यों में से उनकी बेटी अनिता बोस, भतीजे अर्धेंदु बोस, प्रपौत्र चंद कुमार बोस को शामिल किया गया है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस से जुड़े कार्यक्रमों का आयोजन कोलकाता, दिल्ली सहित नेताजी और आजाद हिंस फौज से जुड़े देश-विदेश के अन्य स्थलों पर किया जाएगा। केंद्र सरकार हर साल नेताजी के प्रति सम्मान प्रदर्शित कर रही है। इससे पहले वह आजाद हिंस फौज के 75वें स्थापना दिवस को भी भव्य तरीके से मना चुकी है, जिसमें खुद प्रधानमंत्री शामिल हुए थे। बता दें कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को ओड़िशा के कटक शहर में हिन्दू कायस्थ परिवार में हुआ था।

शिवसेना का जोरदार अटैक, कहा- राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर 'तांडव' क्यों नहीं करती BJP

पश्चिम बंगाल में जल्द हो सकता है चुनावों का ऐलान
मालूम हो कि पश्चिम बंगाल में जल्द ही विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान हो सकता है, ऐसे में प्रधानमंत्री का दौरा अपने आम में काफी अहम हो जाता है। इससे पहले बीजेपी के गृह मंत्री अमीत शाह और जेपी नड्डा समेत कई दिग्गज नेता यहां जनसभाओं को संबोधित कर चुके हैं। 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.