Sunday, Jun 13, 2021
-->
pm narendra modi address panchayati raj diwas coronavirus pragnt

PM मोदी ने कहा, कोरोना संकट का सबसे बड़ा संदेश- हमें आत्मनिर्भर बनना ही पड़ेगा

  • Updated on 4/24/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट के बीच आज राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस (National Panchayati Raj Day) मनाया जा रहा है। इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज देशभर के सरपंचों (Sarpanchs) को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। पंचायती राज दिवस के मौके पर पीएम ने ई-ग्राम स्वराज पोर्टल और मोबाइल ऐप को भी लॉन्च किया।

Lockdown के 30 दिन बाद कुछ ऐसा है देश का हाल, सुरक्षा के लिए हो रहा ड्रोन का इस्तेमाल

इस महामारी ने हमें नई शिक्षा और संदेश भी दिया
कोरोना वायरस संकट से निपटने में ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों की भूमिका की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना संकट का सबसे बड़ा संदेश और सबक यह है कि हमें आत्मनिर्भर बनना ही पड़ेगा। प्रधानमंत्री ने 'राष्ट्रीय पंचायत राज दिवस' पर ग्राम पंचायतों के सरपंचों और अध्यक्षों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संवाद करते हुए कहा, 'कोरोना महामारी ने हमारे लिए अनेक मुसीबतें पैदा की हैं, जिनकी हमने कभी कल्पना तक नहीं की थी। लेकिन इससे भी बड़ी बात ये है कि इस महामारी ने हमें नई शिक्षा और संदेश भी दिया है।'

महाराष्ट्र: कोरोना मरीज समझ अज्ञात लोगों ने किया हमला, मौके पर हुई मौत

हमें आत्मनिर्भर होना पड़ेगा
उन्होंने कहा, 'कोरोना संकट ने अपना सबसे बड़ा संदेश हमें दिया है कि हमें आत्मनिर्भर बनना पड़ेगा।' मोदी ने कहा कि अब यह देखना बहुत जरूरी हो गया है कि गांव अपनी मूलभूत आवश्यकताओं के लिए कैसे आत्मनिर्भर बनें, जिला अपने स्तर पर, राज्य अपने स्तर पर, और इसी तरह पूरा देश कैसे आत्मनिर्भर बने... अब ये बहुत आवश्यक हो गया है।

राजस्थान: कोरोना ने बुझाया एक और घर का चिराग, संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 2000

गांवों ने '2 गज दूरी' का संदेश दिया
मोदी ने कहा कि कोरोना ने हम सभी के काम करने के तरीके को बहुत बदल दिया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस संकट में गांव- देहात से प्ररेणादायी बातें सामने आई हैं। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों से कहा कि आप सभी ने दुनिया को मंत्र दिया है- ‘दो गज दूरी’ का, या कहें 'दो गज देह की दूरी' का। इस मंत्र के पालन पर गांवों में बहुत ध्यान दिया जा रहा है।

प. बंगाल: राज्यपाल ने CM ममता पर साधा निशाना, कहा- हो रहा अल्पसंख्यक का 'खुल्लम खुल्ला तुष्टीकरण'

PM मोदी ने ई-ग्राम स्वराज पोर्टल किया लॉन्च
मोदी ने कहा कि इतना बड़ा संकट आया, इतनी बड़ी वैश्विक महामारी आई, लेकिन इन 2-3 महीनों में हमने ये भी देखा है भारत का नागरिक, सीमित संसाधनों के बीच, अनेक कठिनाइयों के सामने झुकने के बजाय उनसे टकरा रहा है। मोदी ने इस अवसर पर एकीकृत ई-ग्रामस्वराज पोर्टल और मोबाइल ऐप का भी शुभारंभ किया। प्रधानमंत्री ने स्वामित्व योजना भी शुभारंभ की और राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर उत्कृष्ट कार्य करने वाली पंचायतों को पुरस्कृत भी किया गया।  

कोरोना वायरस से जंग में बजा PM मोदी का डंका, मदद के लिए हमेशा रहे आगे

कोरोना जंग में सामूहिक एकता भारत की शक्ति
पंचायती राज दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि पंचायती राज व्यवस्था के सभी सदस्य प्रेरणा के स्रोत हैं क्योंकि उन्होंने संक्रमण को रोकने में बहादुर योद्धाओं की भांति पूरे समर्पण से अपनी भूमिका निभाई है। मोदी ने कहा कि इस लड़ाई में सामूहिक एकता भारत की शक्ति है।

उन्होंने आगे कहा कि धैर्य, अनुशासन, आपसी सहयोग और देश के सभी नागरिकों की सजगता से हम निश्चित तौर पर कोरोना वायरस महामारी को हराने में सफल होंगे।

लॉकडाउन के बीच 27 अप्रैल को एक बार फिर राज्यों के CM's से बात करेंगे पीएम मोदी

27 अप्रैल को फिर राज्यों के CM's से बात करेंगे पीएम मोदी
इसके अलावा पीएम मोदी 27 अप्रैल को एक बार फिर सभी मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात करेंगे। इस बैठक में सभी राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री शामिल होंगे। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस मीटिंग में पीएम मोदी लॉकडाउन पर चर्चा करेंगे। 

हेल्थकेयर वर्कर्स की सुरक्षा के लिए लाए गए कानून को पीएम मोदी ने सराहा

इससे पहले भी की थी बैठक
बता दें लॉकडाउन के बीच में इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी एक बार पहले भी 11 अप्रैल को सभी मुख्यमंत्रियों के बात कर चुके हैं। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों के साथ राय-मशविरा किया था और फिर लॉकडाउन की समयसीमा बढ़ाने पर सहमति बन गई थी। इस दौरान पीएम मोदी ने कोरोना के प्रकोप को देखते हुए 14 अप्रैल को खत्म होने वाले लॉकडाउन की मियाद बढ़ाकर 3 मई कर दी। जिस तरह से देश में कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं ऐसे में अब माना जा रहा है कि अगली मीटिंग का मुख्य मुद्दा लॉकडाउन खत्म करना या अवधि बढ़ाने का ही हो सकता है। 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

  •  
comments

.
.
.
.
.