Tuesday, Dec 01, 2020

Live Updates: Unlock 6- Day 30

Last Updated: Mon Nov 30 2020 09:23 PM

corona virus

Total Cases

9,457,385

Recovered

8,878,964

Deaths

137,516

  • INDIA9,457,385
  • MAHARASTRA1,823,896
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA883,899
  • TAMIL NADU780,505
  • KERALA599,601
  • NEW DELHI566,648
  • UTTAR PRADESH543,888
  • WEST BENGAL526,780
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA318,725
  • TELANGANA268,418
  • RAJASTHAN262,805
  • BIHAR235,616
  • CHHATTISGARH234,725
  • HARYANA232,522
  • ASSAM212,483
  • GUJARAT206,714
  • MADHYA PRADESH203,231
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB151,538
  • JAMMU & KASHMIR109,383
  • JHARKHAND104,940
  • UTTARAKHAND74,340
  • GOA45,389
  • HIMACHAL PRADESH38,977
  • PUDUCHERRY36,000
  • TRIPURA32,412
  • MANIPUR23,018
  • MEGHALAYA11,269
  • NAGALAND10,674
  • LADAKH7,866
  • SIKKIM4,967
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,631
  • MIZORAM3,806
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,325
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
pm-narendra-modi-inaugrats-nationalwarmemorial

मोदी सरकार ने पूरी की सैन्य बल की 60 साल पुरानी मांग, देश को मिला नेशनल वॉर मेमोरियल

  • Updated on 2/25/2019

सीमा नहीं बना करतीं हैं कागज पर खींची लकीरों से, 
ये घटती-बढ़ती रहती हैं वीरों की शमशीरों से...

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लंबे इंतजार के बाद शहीदों के लिए प्रस्तावित नेशनल वॉर मेमोरियल को देश को समर्पित कर दिया है। 60 साल पहले प्रस्तावित ये मोमरियल राजनीतिक और प्रशासनिक उदासीनता का शिकार था। 

Related image176 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ इस वॉर मेमोरियल का उद्घाटन पीएम मोदी आज करेंगे। आजादी के बाद से अलग-अलग युद्धों और ऑपरेशनों में शहीद होने वाले 22 हजार से अधिक सैनिकों के सम्मान में इस वॉर मेमोरियल को तैयार किया गया है।

72 साल, 48 मैच, 13 कप्तान... लंबे इंतजार के बाद आस्ट्रेलिया में जीत का सूखा खत्म कर कोहली बने विराट

60 साल से यूं अटका था 
पहले विश्वयुद्ध में शहीद हुए 84 हजार भारतीय जवानों की याद में ब्रिटिश सरकार ने इंडिया गेट बनवाया था। बाद में 1971 के युद्ध में शहीद हुए 3843 जवानों के सम्मान में अमर जवान ज्योति बनाई गई। लेकिन इससे पहले 1960 में सैन्य बल की ओर से नेशनल वॉर मेमोरियल का प्रस्ताव रखा गया था, जिसपर सरकार आंखे मूंदे रही। 

Related imageसाल 2014 में केंद्र में आई मोदी सरकार ने दशकों से सैन्यबलों की इस मांग पर गौर करते हुए अक्टूबर में इसके लिए 176 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की थी।

ऑस्ट्रेलिया को पटखनी देने के बाद भावुक हुए कोहली, कही ये बात 

2014 से पहले की सरकारें दिल्ली में जगह की कमी का बहाना बनाकर इस मेमोरियल को राजधानी से बाहर ले जाना चाहती थी,जिसका विरोध सैन्य बल लगातार कर रहे थे।

Related image लेकिन केंद्र सरकार ने इस मेमोरियल के लिए राजधानी में ही जगह उपलब्ध करवाई। सरकार ने इंडिया गेट के पास जमीन उपलब्ध करवाई और साथ ही मेमोरियल के उद्घाटन का समय 15 अगस्त 2018 तय किया, जो मिस हो गया।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज जीतने के बाद पुजारा ने टीम इंडिया को लेकर कही ये बात 

इस वॉर मेमोरियल ने लंबे अरसे से लंबित भावुक मांगों का पूरा किया है। इस मेमोरियल में अमर चक्र, वीर चक्र, त्याग चक्र और रक्षा चक्र के साथ इसमें हमेशा जलती लौ के साथ एक 15 मीटर लंबा स्तंभ बना है। इस पर भित्ति चित्र, ग्रैफिक पैनल, शहीदों के नाम औऱ 21 परमवीर चक्र विजेताओं की मूर्ति बनाई गई हैं।

Image result for national war memorial delhiबता दें कि भारत ही अब तक एक ऐसा देश था जिसके पास वॉर मेमोरियल नहीं था, लेकिन अब वो लक्ष्य भी भारत ने पूरा कर लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.