Friday, Feb 28, 2020
PM Narendra Modi meet Portugal Marcelo Rebelo De Sousa in delhi

PM नरेंद्र मोदी ने पुर्तगाल के राष्ट्रपति से की मुलाकात, द्विपक्षीय संबंधों पर दिया जोर

  • Updated on 2/14/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और पुर्तगाल (Portugal) के राष्ट्रपति मार्सेलो रेबेलो डी सूसा (Marcelo Rebelo De Sousa) ने शुक्रवार को हैदराबाद हाउस (Hyderabad House) में प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता की। इस दौरान दोनों ने कारोबार, निवेश सहित दोनों देशों के संबंधों को और गहरा बनाने के रास्तों एवं रिश्तों के विविध आयामों पर व्यापक चर्चा की।

बढ़ते राजकोषीय घाटे पर IMF ने भारत को दी ये राय

अहम समझौतों पर हुए हस्ताक्षर
पुर्तगाल के राष्ट्रपति सूसा चार दिवसीय यात्रा पर गुरुवार की रात को भारत (India) पहुंचे। उनका शुक्रवार को राष्ट्रपति भवन में पारंपरिक स्वागत किया गया जहां उन्होंने सलामी गारद का निरीक्षण भी किया। अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पुर्तगाल के राष्ट्रपति मार्सेलो रेबेलो डी सूसा ने कारोबार, शिक्षा, निवेश सहित द्विपक्षीय संबंधों के संपूर्ण आयामों पर चर्चा की।

केजरीवाल ने पीएम मोदी को दिया शपथग्रहण समारोह का निमंत्रण

चार दिवसीय यात्रा पर आए दिल्ली
पुर्तगाल के राष्ट्रपति के साथ एक उच्च स्तरीय शिष्टमंडल भी भारत आया है। पुर्तगाल के राष्ट्रपति मार्सेलो रेबेलो डी सूसा, भारत के राष्ट्रपति के निमंत्रण पर 13 से 16 फरवरी 2020 तक भारत की राजकीय यात्रा पर आए हैं। विदेश मंत्रालय की विज्ञप्ति के अनुसार, 'पुर्तगाल के साथ भारत के संबंध जोशपूर्ण और मित्रता के रहे हैं और हाल के वर्षों में इनमें काफी वृद्धि हुई है। हाल के उच्च स्तरीय राजनीतिक आदान-प्रदान में प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा की दिसंबर 2019 में भारत की यात्रा और हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जून 2017 में पुर्तगाल की यात्रा शामिल है।'

सिख विरोधी दंगा: SC से सज्जन कुमार को कोई राहत नहीं, होली के बाद होगी सुनवाई

द्विपक्षीय संबंधों पर दिया जोर
विज्ञप्ति में कहा गया है कि दोनों देशों के बीच अर्थव्यवस्था और व्यापार, विज्ञान, संस्कृति और शिक्षा के क्षेत्र में सक्रिय और वृद्धिशील सहयोग है। वे अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर काफी महत्वपूर्ण साझेदार हैं। इसमें कहा गया है कि पुर्तगाल के राष्ट्रपति की यह यात्रा दोनों पक्षों के लिए द्विपक्षीय संबंधों के विभिन्न क्षेत्रों में प्रगति की समीक्षा करने और आम हित के अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर सहयोग तथा विनिमय के दृष्टिकोण के नए मार्ग को आगे बढ़ाने का अवसर प्रदान करेगी।

comments

.
.
.
.
.