Friday, Feb 26, 2021
-->
pm narendra modi paid tribute to swami vivekananda jayanti pragnt

PM मोदी समेत इन दिग्गज नेताओं ने दी स्वामी विवेकानंद को श्रद्धांजलि

  • Updated on 1/12/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में हर साल 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है। साथ ही आज के दिन स्वामी विवेकानंद का जन्म दिन भी होता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी और लोगों से उनके विचारों एवं आदर्शों का प्रसार करने की अपील की। मोदी ने ट्विटर के माध्यम से अपने ऐप (नमो) का एक लिंक साझा किया, जिसके माध्यम से लोग स्वामी विवेकानंद के विचार साझा कर सकते हैं।

युवा को ऊर्जा से भरने वाले थे स्वामी विवेकानंद के बोल, छोड़ी थी हिंदुत्व की गहरी छाप

स्वामी विवेकानंद को दी श्रद्धांजलि
उन्होंने कहा, 'स्वामी विवेकानंद को उनकी जयंती पर कोटि-कोटि नमन। विवेकानंद जयंती पर नमो ऐप पर एक रचनात्मक प्रयास किया गया है, जो आपको उनके विचार एवं अपने व्यक्तिगत संदेश साझा करने की अनुमति देता है। आइए, स्वामी विवेकानंद के बहुआयामी विचारों एवं आदर्शों का दूर-दूर तक प्रसार करें।'

CBSE के निर्देश- विवेकानंद जयंती पर राष्ट्रीय युवा दिवस मनाएं स्कूल, Online प्रतियोगिता करें आयोजित

PM मोदी के जीवन में विवेकानंद के विचारों का गहरा प्रभाव
विख्यात और प्रभावशाली आध्यात्मिक दार्शनिक स्वामी विवेकानंद का कोलकाता में 1863 में जन्म हुआ था और उन्हें वेदांत के विचारों को लोकप्रिय बनाने का श्रेय दिया जाता है। मोदी ने कई बार कहा है कि उनके जीवन में विवेकानंद के विचारों का गहरा प्रभाव है। उन्होंने हाल में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में उनकी एक प्रतिमा स्थापित की थी।

कोविशील्ड वैक्सीन की पहली खेप हुई रवाना, जानें सीरम इंस्टीट्यूट कितने खुराक के लिए किया है सौदा

अमित शाह ने भी दी श्रद्धांजलि
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी स्वामी विवेकानंद की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। साथ ही देशवासियों को 'युवा दिवस' की शुभकामनाएं दी। शाह ने ट्वीट कर लिखा, 'भारत के ज्ञान, संस्कृति और दर्शन को विश्वभर में दिग्विजय कराने वाले स्वामी विवेकानंद जी की जयंती पर उन्हें कोटि-कोटि नमन व देशवासियों को 'युवा दिवस' की शुभकामनाएं। स्वामी जी के प्रगतिशील व प्रेरक विचारों को आत्मसात कर देश के युवा भारत को पुनः विश्व शिखर पर पहुंचा सकते हैं।'

बता दें कि प्रत्येक वर्ष 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस (National Youth Day) के दिन स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) का जन्म दिन होता है। स्वामीजी का जन्म कोलकाता में 12 जनवरी 1863 को हुआ था। इनका मूल नाम नरेंद्रनाथ था। इनके पिता का नाम विश्वनाथ दत्त और माता का नाम भुवनेश्वरी देवी था। पिता कोलकाता हाईकोर्ट में अटार्नी ऑफ लॉ थे।

SC-ST आयोगों में रिक्त पदों को लेकर कोर्ट ने केंद्र, योगी सरकार से किया जवाब तलब

विवेकानंद ने पश्चिमी देशों में वेदांत और योग का किया प्रचार
स्वामी जी कोलकाता के कॉलेज से बी.ए. और लॉ की डिग्री हासिल की थी, लेकिन उनका मन अध्यात्म की ओर ज्यादा था। नरेंद्र नाथ को विवेकानंद नाम उनके गुरु स्वामी रामकृष्ण परमहंस ने दिया था। कहा जाता है कि स्वामीजी की याददाश्त बहुत तेज थी। वे बहुत ही जल्दी पूरी किताब पढ़ लेते थे और किताब की हर बात उन्हें याद रहती थी।

पश्चिमी देशों को वेदांत और योग के बारे में जाग्रत कराने का योगदान स्वामी विवेकानंद को ही जाता है। 19वीं शताब्दी में हिंदू धर्म का प्रचार करके स्वामी विवेकानंद ने इसे एक मुख्य धर्म के रूप में पहचान दिलाई। एक समाज सुधारक के तौर पर स्वामी विवेकानंद ने ‘रामकृष्ण मिशन’ की स्थापना की, जो आज भी अपना काम कर रहा है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.