Thursday, Apr 02, 2020
pm narendra modi to address the nation through his 62nd mannkibaat programme

#ManKiBaat: कार्यक्रम में बोले पीएम मोदी- नया भारत पुराने ढर्रे पर चलने को तैयार नहीं

  • Updated on 2/23/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटिल। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सुबह 11 बजे से एक बार फिर मन की बात (Man Ki Baat) कार्यक्रम के जरिए जनता से संवाद किया। इस साल दूसरी बार प्रधानमंत्री मोदी मन की बात कार्यक्रम के जरिए देशवासियों को संबोधित किया। प्रधानमंत्री बनने के बाद से पीएम मोदी 62वीं बार मन की बात कार्यक्रम के जरिए जनता को संबोधित किया।  

इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि देश की विवधता  गर्व से भर देती  है। वहीं हुनर हाट के बारे में भी पीएम ने कई बातें कहीं. उन्होंने कहा कि हुनर हार्ट में 3 लाख लोगों को रोजगार मिला। हुनर हार्ट में शिल्पकारों की कहानियां दिल छू लेने वाली हैं। हुनर हार्ट देश की संस्कृति के लिए बड़ा मंच। इसके साथ ही पीएम मोदी ने बताया कि  भारत कॉप कन्वेंशन की अध्यक्षता करेगा। हमारे पूर्वजों ने जीवों के प्रति दया भाव हमें विरासत में दिया। 

विज्ञान और तकनीकि के विषय में बात
इसके साथ ही विज्ञान और तकनीकि के विषय में बात करते हुए पीएम ने कहा कि देश के युवाओं में साइन्स के प्रति उत्सुकता बढ़ी है। वहीं श्री हरि कोटा से होने वाली लॉन्चिंग को अब सामने से देख सकते हैं। इसरो की वेबसाइट से इसके लिए  ऑनलाइन बुकिंग कर सकते हैं। पीएम ने कहा कि अंतरिक्ष में भारत की कामयाबी गर्व से भर देने वाली है। 

लेह में बना इतिहास
वहीं पीएम मोदी ने देशवासियों को बताया कि 31 जनवरी को लद्दाख में बना इतिहास, लेह में सबसे ऊंची हवाई पट्टी से विमान ने उड़ान भरी। युविका कार्यक्रम को इसरो का सराहनीय कदम बताया। इसके साथ ही पीएम ने कहा कि नया भारत पुराने ढर्रे पर चलने को तैयार नहीं। नया भारत अब नई सोच के साथ चल रहा है। वहीं बिहार के पूर्णिया इलाके की महिला कारोबारियों की तारीफ भी पीएम ने की। 

देश के साहसी लोगों की सफलता की सुनाई कहानियां
पीएम ने 105 साल की भागिरथी अम्मा की सफलता की कहानी सुनाई, केरल की कोल्लम की रहने वाली भगीरथी अम्मा को उस समय स्कूल छोड़ना पड़ा, जब वह 10 साल की भी नहीं थीं। उन्होंने 105 साल की उम्र में अपनी पढ़ाई फिर से शुरू की और 75% के साथ 4 परीक्षाओं के स्तर को साफ कर दिया। वह प्रेरणा का बड़ा स्रोत है। पीएम ने कहा कि मैं उनका सम्मान करता हूं।वहीं मुरादाब के दिव्यांग के हिम्मत की भी पीएम ने तारीफ की। दुनिया की ऊंची चोटियों को फतह करने वाली काम्या के प्रयासों को पीएम ने सराहा। पीएम ने बताया कि काम्या मिशन साहस पर काम कर रही हैं। अंत में पीएम मोदी महाशिवरात्री पर्व की शुभकामनाएं देते हुए और त्योहारों का महत्व को बताते हुए देशवासियों से विदा ली।  

प्रधानमंत्री मोदी ने की 'मन की बात, लोगों को दी गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

26 जनवरी को पीएम ने की थी मन की बात
इससे पहले 26 जनवरी को पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम के जरिए देश को संबोधित किया था। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा था कि 2022 में हमारी आजादी के 75 साल पूरे होने वाले हैं और उस मौके पर हमें गगनयान मिशन (Gaganyan Mission) के साथ एक भारतवासी को अंतरिक्ष में ले जाने के अपने संकल्प को सिद्ध करना है। उन्होंने कहा कि इस मिशन में अंतरिक्ष यात्री के लिए 4 उम्मीदवारों का चयन कर लिया गया है। ये चारों युवा भारतीय वायु सेना के पायलट हैं।

मन की बात में पीएम ने कहा कुपोषण से लड़ने के लिए सबको एक साथ आना होगा

त्रिपुरा में ब्रू-शरणार्थियों को बसाया जाएगा
पीएम ने कहा था कि पिछले दिनों में जब त्योहारों की धूम थी तब दिल्ली एक ऐतिहासिक समझौते का साक्षी बन रहा था। इसके साथ ही लगभग 25 वर्ष पुरानी Bru-Reang refugee crisis, एक दर्दनाक चैप्टर का अंत हुआ। 

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि 18 जनवरी को युवाओं ने देशभर में cyclothon का आयोजन किया, जिसमें शामिल लाखों देशवासियों ने फिटनेस का संदेश दिया। हमारा New India पूरी तरह से फिट रहे इसके लिए हर स्तर पर जो प्रयास देखने को मिल रहे हैं, वे जोश और उत्साह से भर देने वाले हैं। करीब 34,000 ब्रू-शरणार्थियों को त्रिपुरा में बसाया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.