Friday, May 14, 2021
-->
pm narendra modi will lay the foundation stone of new parliament on 10 december sohsnt

पीएम नरेंद्र मोदी 10 दिसंबर को रखेंगे नई संसद की आधारशिला, लोकसभा अध्यक्ष ने दी जानकारी

  • Updated on 12/5/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) 10 दिसंबर को नई संसद की आधार शिला रखेंगे। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (OM Birla) ने ट्वीट कर ये जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 10 दिसंबर को नई दिल्ली में संसद भवन की नई बिल्डिंग की आधारशिला रखेंगे और भूमिपूजन करेंगे।

देश को मिलेगा नया संसद भवन! जाने कब तक बनकर होगा तैयार


861.90 करोड़ रुपये की लागत से बनेगी नई बिल्डिंग
बता दें कि दिल्ली (Delhi) में संसद भवन (Parliament) की नई इमारत के निर्माण का कार्य टाटा कंपनी को दिया गया है। ऐसे में अब टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड (Tata Projects Limited) 861.90 करोड़ रुपये की लागत से संसद भवन की नई इमारत का निर्माण कर रह रही है। अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक,  सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत नई इमारत संसद की मौजूदा इमारत के पास ही बनाई जा रही है और इसका निर्माण कार्य लगभग 21 महीनों में पूरा कर लिया जाएगा।

दिसंबर से शुरू होगा नए संसद भवन का निर्माण, सांसदों को मिलेंगी डिजिटल सुविधाएं

टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड बनाएगा नई इमारत
एक अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक, टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड द्वारा लिए गए इस कॉन्ट्रैक्ट में संसद की नई इमारत बनाने के साथ-साथ रखरखाव का काम भी शामिल है। उन्होंने कहा कि एलएंडटी लिमिटेड ने 865 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी लेकिन टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड की बोली सबसे कम थी। सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत संसद भवन की त्रिकोणीय इमारत, एक साझा केंद्रीय सचिवालय और राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक तीन किलोमीटर लंबे राजपथ के पुनर्विकास की परिकल्पना की गई है।

किसान आंदोलन पर केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले बोले- जानबूझकर किसानों को भटका रहा विपक्ष

प्लॉट संख्या 118 पर बनेगी नई इमारत
दरअसल, मोदी सरकार की योजना के मुताबिक, जब देश 15 अगस्त 2022 को अपनी आजादी की 75 की वर्षगांठ मना रहा हो तब सांसद नए संसद भवन में बैठें। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) के मुताबिक नई इमारत संसद भवन संपदा की प्लॉट संख्या 118 पर बनेगी। सीपीडब्ल्यूडी ने कहा कि परियोजना के अमल में आने के पूरी अवधि के दौरान मौजूदा संसद भवन में कामकाज जारी रहेगा।

BJP का कनाडा PM पर निशाना, कहा- भारतीय किसानों की बेहतरी को लेकर कनाडा की रुचि बेहद अजीब

1400 सांसदों के बैठने की होगी जगह
सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत संसद भवन की त्रिकोणीय इमारत, एक साझा केंद्रीय सचिवालय और राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक तीन किलोमीटर लंबे राजपथ के पुनर्विकास की परिकल्पना की गई है। इसके साथ ही नई इमारत में ज्यादा सांसदों के बैठने की जगह होगी क्योंकि परिसीमन के बाद लोकसभा और राज्यसभा के सदस्यों की संख्या में बढ़ोतरी हो सकती है। मिली जानकारी के मुताबिक, इसमें लगभग 1400 सांसदों के बैठने की जगह तैयार की जाएगी।

 ये भी पढ़ें ...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.