Saturday, Jul 31, 2021
-->
poisonous air in north india aqi reached critical level delhi ncr prshnt

जहरीली हुई हवाः दिल्ली- NCR में लोगों का घुट रहा दम, गंभीर स्तर पर पहुंचा AQI

  • Updated on 11/6/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में बदलते मौसम के साथ प्रदूषण (Pollution) तेजी से बढ़ता जा रहा है। उत्तर भारत में प्रदूषण गंभीर स्तर पर पहुंच चुका है। इस बार दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) के शहरों का एयर इंडेक्स 400 से ऊपर गंभीर श्रेणी में आ गया। वहीं दिल्ली से सटे पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब सहित अन्य राज्यों में भी प्रदूषण से स्थिति काफी खराब है। ऐसे में केंद्रीय पर्यावरण एवं स्वास्थ्य मंत्रालयों, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब की सरकारों के वरिष्ठ अधिकारी शुक्रवार को पर्यावरण संबंधी संसदीय समिति के समक्ष उपस्थित होंगे। समिति की बैठक दिल्ली एवं आसपास के इलाकों में वायु प्रदूषण की समस्या का ‘स्थायी समाधान’ निकालने को लेकर होगी।

कोरोना मरीजों के लिए ICU बेड मामले में सुप्रीम कोर्ट पहुंची केजरीवाल सरकार 

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड
लोकसभा सचिवालय की ओर से जारी नोटिस के मुताबिक, केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय, पर्यावरण एवं वन मंत्रालय और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अधिकारी शहरी विकास संबंधी संसद की स्थायी समिति के समक्ष उपस्थित होंगे। जगदंबिका पाल की अध्यक्षता वाली इस समिति के सामने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब के अधिकारी भी दिल्ली एवं आसपास के इलाकों में वायु प्रदूषण की स्थिति को लेकर अपनी बात रखेंगे। 

RBI ने सुप्रीम कोर्ट से NPA घोषणा पर रोक हटाने की लगाई गुहार

पराली जलाने की हिस्सेदारी प्रदूषण में 42 फीसदी तक पहुंची
इस बैठक के एजेंडा में कहा गया है कि संसदीय समिति दिल्ली और एनसीआर में वायु प्रदूषण की रोकथाम के लिए उठाए जाने वाले कदमों पर विचार-विमर्श करेगी तथा समस्या के स्थायी समाधान पर मुख्य रूप से जोर दिया जाएगा। इस बीच, पराली जलाने के मामलों में वृद्धि और हवा की गति कम होने के कारण राष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार सुबह प्रदूषण की स्थिति पिछले एक साल में सबसे खराब स्तर पर पहुंच गयाी। पराली जलाने की हिस्सेदारी प्रदूषण में 42 फीसदी तक पहुंच गई। 

रिलायंस इंडस्ट्रीज सैट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में करेगी अपील

प्रदूषण से आंखों की समस्या
बता दें कि प्रदूषण के चलते आंखों में जलन की समस्या का भी लोगों को सामना करना पड़ रहा है। आंखों की विशेषज्ञ डॉक्टर का कहना है कि धूल के कण के संपर्क में आते ही सबसे पहले व्यक्ति को खुजली होती है। जिसके बाद आंखों में लालिमा छा जाती है। गंदे हाथों से खुजली के चलते एलर्जी की शिकायत भी हो सकती है। ज्यादा समय तक आंखों में खुजली करने से आंखों की रोशनी भी कम होने की संभावना हो जाती है।

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें....

comments

.
.
.
.
.