Wednesday, May 12, 2021
-->
police-farmers clash on ito, protesters pelted stones at police pragnt

पुलिस Vs किसान : ITO पर जबर्दस्त घमासान, पुलिस पर पथराव कर रहे प्रदर्शनकारी

  • Updated on 1/26/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरोध में हजारों संख्या में किसान ट्रैक्टर परेड कर रहे हैं। राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करने के बाद प्रदर्शन कर रहे किसानों के आईटीओ पहुंचने के बाद लुटियन दिल्ली की ओर बढ़ने की कोशिश पर पुलिस के साथ भिड़ंत हुई। पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे। ट्रैक्टर रैली के दौरान किसान बेकाबु हो गए हैं। आईटीओ इलाके में प्रदर्शनकारी किसानों ने पुलिस पर पत्थरबाजी की। इस पत्थरबाजी में कई पुलिस अधिकारी घायल हो गए हैं।  

दिल्ली की सड़कों पर हजारों टैक्टर के साथ उतरे किसान, जानिए पूरे परेड का हाल

पुलिस पर ट्रैक्टर चलाने की कोशिश
दिल्ली के आईटीओ रेड लाइट पर किसानों का हुड़दंग जारी है। बीच चौराहे पर तेज रफ्तार से ट्रैक्टर चलाए जा रहे हैं। आंदलोनकारियों ने पुलिस पर भी ट्रैक्टर चलाने की कोशिश की। कुछ प्रदर्शनकारी मुंह पर कपड़ा बांधकर पुलिस पर पथराव कर रहे हैं। 

लाल किला पहुंचे किसान
आंदोलनकारी किसान दिल्ली के लाल किला पहुंच गए हैं। वहीं आईटीओ इलाके के पास पुलिस और किसान आमने-सामने आ गए हैं। प्रदर्शनकारी किसान पुलिसकर्मियों पर पथराव कर रहे हैं। जवाब में पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़ रहे हैं। 

PCR वैन पर प्रदर्शनकारियों का धावा बोल
दिल्ली पुलिस जयपुर हेड क्वार्टर के पास सुरक्षा के लिए खड़ी एक पीसीआर वैन पर भी प्रदर्शनकारियों ने धावा बोल दिया जबकि उसमें मौजूद तीन पुलिसकर्मी अपनी जान बचाई। जबकि पूर्व हेडक्वार्टर के पास लगी हुई बैरिकेडिंग को भी प्रदर्शनकारियों ने गिरा दिया और दिल्ली पुलिस की दो मिनी बस को भी तोड़ दिया।

सेंट्रल दिल्ली में घुस उपद्रव कर रहे किसान, टिकैत बोले- मुझे इस बारे में कुछ नहीं पता

किसानों और पुलिस में भिड़ंत
बता दें कि किसानों ने तय समय से पहले विभिन्न सीमा बिंदुओं से अपनी ट्रैक्टर परेड शुरू की। किसान अनुमति नहीं मिलने के बावजूद मध्य दिल्ली के आईटीओ पहुंच गए। प्रदर्शनकारी हाथ में डंडे लेकर पुलिस कर्मियों को दौड़ाते हुए दिखे। पुलिस ने भी लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोले छोड़कर भीड़ को तितर-बितर करने का प्रयास किया।

गणतंत्र दिवस 2021: जानें किन देशों से हैं भारतीय संविधान का खास नाता

10 से अधिक मेट्रो स्टेशनों बंद
राष्ट्रीय राजधानी में कई स्थानों पर पुलिस और प्रदर्शनकारी किसानों के बीच झड़पों के बाद मंगलवार को मध्य एवं उत्तर दिल्ली के 10 से ज्यादा मेट्रो स्टेशनों पर प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए। पुलिस ने किसान समूहों पर आंसू गैस के गोले छोड़े तथा लाठीचार्ज किया। सीमा पर कई स्थानों पर प्रदर्शनकारियों ने अवरोधक तोड़ दिए। राष्ट्रीय राजधानी में ट्रैक्टर परेड के लिए जो मार्ग पूर्व में निर्धारित किया गया था उन्होंने उसका अनुसरण नहीं किया। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने ट्विटर पर सूचित किया कि मेट्रो स्टेशनों के द्वार अस्थायी रूप से बंद किए गए हैं।

डीएमआरसी ने ट्वीट किया, 'इंद्रप्रस्थ मेट्रो स्टेशन के प्रवेश/निकास द्वार बंद हैं। समयपुर बादली, रोहिणी सेक्टर 18/19, हैदरपुर बादली मोड़, जहांगीरपुरी, आदर्श नगर, आजादपुर, मॉडल टाउन, जीटीबी नगर, विश्वविद्यालय, विधानसभा और सिविल लाइंस स्टेशनों के प्रवेश/निकास द्वार भी बंद हैं।'

टैक्टर रैली से पहले NH24 पर किसानों ने तोड़ा बैरिकेड, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

मुकरबा चौक पर किसानों और पुलिस पर झड़प
दिल्ली के मुकरबा चौक पर लगाए गए बैरिकेड और सीमेंट के अवरोधकों को ट्रैक्टरों से तोड़ने की कोशिश कर रहे किसानों के समूह पर मंगलवार को पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे। राष्ट्रीय राजधानी के सिंघू, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के कुछ समूह मंगलवार सुबह दिल्ली पुलिस द्वारा ट्रैक्टर परेड के लिए निर्धारित किए गए समय से पहले अवरोधकों को तोड़कर दिल्ली में दाखिल हो गए थे।

पंजाब: ट्रैक्टर रैली को लेकर CM अमरिंदर सिंह ने की किसानों से शांति बनाए रखने की अपील

किसानों पर आंसू गैस के दागे गए गोले
अधिकारी ने बताया कि पुलिस कर्मियों ने सिंघू बॉर्डर पर किसानों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। वे तय समय से पहले आउटर रिंग रोड की ओर मार्च करने की कोशिश कर रहे थे। राष्ट्रीय राजधानी के सीमा बिंदुओं पर ट्रैक्टरों का जमावड़ा दिखाई दिया जिन पर झंडे लगे हुए थे और इनमें सवार पुरुष व महिलाएं ढोल की थाप पर नाच रहे थे। सड़क के दोनों ओर खड़े स्थानीय लोग फूलों की बारिश भी कर रहे थे। वहीं, सुरक्षा कर्मी किसानों को समझाने की कोशिश कर रहे थे कि वे राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड खत्म होने के बाद तय समय पर परेड निकालें।

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.