Tuesday, Dec 07, 2021
-->
prakash-javadekar-vikram-kirloskar-toyota-motors-sohsnt

टोयोटा नहीं रोकेगी भारत में कंपनी का विस्तार, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कही ये बात

  • Updated on 9/16/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना महामारी (Coronavirus) के चलते लागू हुए लॉकडाउन (Lockdown) ने देश की अर्थव्यवस्था को खासा नुकसान पहुंचाया है। ऐसे में अच्छी खबर ये है कि टोयाटा मोटर्स की भारतीय ब्रांच ने अधिक टैक्स के कारण कंपनी के विस्तार को रोकने के इरादे को बदल दिया है। जिसके बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा कि टोयोटा अगले साल देश में 2000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश करेगी।

कोरोना संकट में यात्रियों को राहत देगी भारतीय रेलवे, 21 सितंबर से ट्रैक पर दौड़ेंगी 40 क्‍लोन ट्रेन


1 साल में 2000 करोड़ रुपए से ज्यादा का निवेश करेगी टोयटा
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कंपनी द्वाका निवेश न करने की बात को खारिज करते हुए ट्वीट कर लिखा, 'यह समाचार गलत है कि टोयोटा कम्पनी भारत में निवेश करना बंद करेगी।' उन्होंने कंपनी के उपाध्यक्ष के बयान का जिक्र करते हुए कहा, 'विक्रम किर्लोस्कर ने स्पष्ट किया है कि टोयोटा आगामी 12 महीनों में 2000 करोड़ रुपए से ज़्यादा का निवेश करेगी।'

भ्रष्टाचार सूचकांक में भारत की खराब रैंकिंग, सुप्रीम कोर्ट में दायर हुई PIL

उपाध्यक्ष विक्रम किर्लोस्कर ने ट्वीट कर लिखा
गौरतलब है कि टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के उपाध्यक्ष विक्रम किर्लोस्कर ने ट्वीट कर लिखा, 'कंपनी भारत के भविष्य के लिए प्रतिबद्ध है।' उन्होंने कहा कि अगले 12 महीनों में टोयोटा 2000 करोड़ से अधिक का निवेश करेगी।' इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'हम भारत के भविष्य के लिए प्रतिबद्ध हैं और समाज, पर्यावरण, कौशल और प्रौद्योगिकी में सभी प्रयास जारी रखेंगे।'

कोरोना संकट में सरकार ने दी पेंशनभोगियों को राहत, अब इस तारीख तक जमा कर सकेंगे लाइफ सर्टिफिकेट

टैक्स बढ़ाए जाने को लेकर बड़ा था मामला
दरअसल, ये मामला तब मीडिया में आया जब  टोयोटा की स्थानीय इकाई, टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के वाइस चेयरमैन शेखर विश्वनाथन ने कहा कि भारत में कंपनी पर टैक्स बढ़या जा रहा है जिसके बाद से कारें ज्यादातर उपभोक्ताओं के बजट से बाहर हो गई हैं।  उन्होंने कहा कि 'हमें जो संदेश मिला उसके बाद हम यहां आए हैं और निवेश किया है, क्या हम आपको नहीं चाहते हैं।' उन्होंने कहा कि किसी भी सुधार के अभाव में 'हम भारत से बाहर नहीं जाएंगे, लेकिन हम काम बड़े पैमाने पर नहीं करेंगे।'

comments

.
.
.
.
.