Wednesday, Sep 18, 2019
praveen-valmiki-attacked-prisoner-guards-to-spread-terror-in-jail-staff

जेल स्टाफ में आतंक फैलाने को प्रवीण वाल्मीकि ने कराया था बंदी रक्षक पर हमला

  • Updated on 9/5/2019

रुड़की, 4 सितम्बर (स.ह.): चमोली जेल में बंद कुख्यात प्रवीण वाल्मीकि ने जेल के स्टाफ में अपना आतंक फैलाने के लिए 17 अगस्त को रुड़की जेल के बंदी रक्षक प्रमेश चौहान पर हमला कराया था। गंगनहर पुलिस ने मामले में प्रवीण वाल्मीकि के एक शूटर समेत दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इनमें जहां शूटर ढाई हजार रुपये का इनामी है,वहीं वह जुलाई माह में ही रोडवेज परिचालक सुभाष कुमार पर फायरिंग कर हत्या का प्रयास करने के मामले में भी फरार था।

कोतवाली गंगनहर में पत्रकार वार्ता में एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्ण राज ने बताया कि बंदी रक्षक पर अस्पताल के समीप हुए जानलेवा हमले के मामले में शूटर साबिर पुत्र आरिफ थाना रानीपुर का नाम सामने आया। साबिर 10 जुलाई को नन्दविहार कालोनी में रोडवेज परिचालक सुभाष कुमार पर फायरिंग के मामले में भी फरार चल रहा था। उस पर ढाई हजार का इनाम था। एसएसपी ने बताया कि मामले में दूसरे आरोपी फरमान निवासी विष्णुलोक कालोनी अहबाबनगर को 13 जुलाई को गिरफ्तार किया। इसी दिन प्रवीण वाल्मीकि के भतीजे मनीष उर्फ बोलर को मुज्जफरनगर की भौराकलां पुलिस ने मुठभेड़ में गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

एसएसपी ने बताया कि एसपी देहात नवनीत सिंह व सीओ रुड़की चंदन सिंह बिष्ट की देखरेख में गंगनहर पुलिस के साथ ही सीआईयू टीम को भी लगाया गया था। संयुक्त टीम ने बुधवार सुबह 4:30 बजे रुड़की जेल के समीप से साबिर के साथ सद्दाम पुत्र इकरार निवासी बिजनौर को गिरफ्तार किया। उससे 2 तमंचे , 2 कारतूस के साथ वारदात में प्रयुक्त बाइक सुजुकी हयाते व 4 मोबाइल फोन बरामद किए गए। बंदी रक्षक वाले मामले में सद्दाम बाइक चला रहा था,जबकि साबिर ने गोली चलाई थी। दोनों प्रवीण वाल्मीकि के लिए वह काम करते हैं। साबिर के खिलाफ विभिन्न थानों में 15 व सद्दाम के खिलाफ 3 मामले दर्ज हैं। साबिर पर मंगलौर से हत्या का भी एक मामला चल रहा है। पुलिस टीम को एसएसपी की ओर से ढाई हजार रुपये व आईजी गढ़वाल की ओर से 5 हजार का इनाम घोषित किया गया है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.