Sunday, Jun 13, 2021
-->
president Kovind hospitalized after sudden illness PM Modi asked prshnt

अचानक तबियत बिगाड़ने पर राष्ट्रपति कोविंद आर्मी अस्पताल में भर्ती, PM मोदी ने पूछा हाल

  • Updated on 3/26/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind ) की शुक्रवार को अचानक तबीयत बिगड़ गई, राष्ट्रपति कोविंद सीने में दर्द की शिकायत के बाद आर्मी अस्पताल में भर्ती काराया गया। राष्ट्रपति कोविंद के सेहत को लेकर आर्मी अस्पताल की ओर से जारी बयान के मुताबिक, उनका रूटीन चेकअप किया गया है, उनकी हालत अभी स्थिर है। नई दिल्ली में सेना के अनुसंधान और रेफरल अस्पताल ने कहा कि राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को सीने में तकलीफ की शिकायत के बाद भर्ती कराया गया था, उन्होंने बताया राष्ट्रपति का नियमित परीक्षण किया गया और अब वह निगरानी में हैं।

वहीं आर्मी आरएंडआर के एक मेडिकल बुलेटिन में कहा गया कि भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद आज सुबह सीने में तकलीफ के बाद नई दिल्ली में आर्मी हॉस्पिटल आए। उनकी नियमित जांच चल रही है और उनकी हालत स्थिर है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की तबियात बिगड़ने के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय से जानकारी दी गई कि पीएम मोदी ने उनके बेटे से फोन पर बात कर राष्ट्रपति का हाल जाना है। पीएम ने राष्ट्रपति के जल्द स्वस्थ्य होने की कामना की है।

असम में बोले अमित शाह बीजेपी 'लव एंड लैंड जिहाद' को रोकने के लिए भी बनाएगी कानून

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लिया कोरोना का टिका
बता दें कि देश में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरे चरण की शुरूआत एक मार्च से हो चुका है। इस चरण में आम लोगों समेत कई विशिष्ठ लोगों ने भी कोरोना वैक्सीन का डोज लिया है, पहले दिन ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैक्सीने लगवाया था, अब पीएम मोदी के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज दिल्ली के आरआर हॉस्पिटल में वैक्सीन की पहली डोज ली।

देश में कोरोना महामारी पर नियंत्रण पाने को कोरोना टीकाकरण का दूसरा चरण आज यानी एक मार्च से शुरू हो गया है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैक्सीन की पहली खुराक ली। उन्होंने लोगों से भी कोरोना का टीका लगवाने की अपील की। बता दें कि पीएम मोदी ने भारत बॉयोटेक की कोवैक्सीन की पहली डोज ली है। नई दिल्ली स्थित एम्स अस्पताल में काम करने वाली पुडुचेरी की नर्स पी निवेदा ने प्रधानमंत्री मोदी को स्वदेशी कोवैक्सिन की डोज लगाई है।

निकिता तोमर हत्याकांड में कोर्ट आज करेगा दोषियों की सजा का ऐलान

निजी अस्पतालों का उपयोग करने का निर्देश
राष्ट्रीय राजधानी स्थित अखिल भारतीय आयुर्वज्ञान संस्थान के प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों और अन्य बीमारियों से ग्रस्त 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए टीकाकरण अभियान शुरू होने के पहले ही दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के टीके की पहली खुराक लेने से लोगों के मन में टीके के प्रति किसी भी तरह की हिचक दूर हो जानी चाहिए।

टीकाकरण अभियान के दूसरे चरण के सोमवार से शुरू होने के बाद से कोविड-19 टीकाकरण के लिए पंजीकरण करने वाले 50 लाख से अधिक लाभार्थियों के साथ और देश के कई हिस्सों में भीड़भाड़ के कारण केंद्र ने मंगलवार को राज्यों को अपने निजी अस्पतालों का उपयोग करने का निर्देश दिया। टीकाकरण अभ्यास के लिए सरकारी स्वास्थ्य बीमा योजनाओं के तहत समान नहीं हैं।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.