Friday, Jan 18, 2019

सवर्ण आरक्षण बिल पर राष्ट्रपति कोविंद ने लगाई मुहर, BJP गदगद

  • Updated on 1/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लोकसभा और राज्यसभा से पास होने के बाद शनिवार को देश के महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी सवर्ण आरक्षण बिल को अपनी मंजूरी दे दी है। राष्ट्रपति की मुहर के बाद अब सवर्ण आरक्षण का रास्ता साफ कर दिया है। 10 प्रतिशत आरक्षण मिलने से भारत के सवर्ण समाज के लोगों के साथ भारतीय जनता पार्टी भी काफी खुश है।

BSP-SP गठबंधन में RLD को नहीं मिलीं मनमाफिक सीटें, नाउम्मीद नही हैं नेता

उधर, बिल का विरोध करने वाला विपक्ष अभी भी केंद्र सरकार और भाजपा के इस कदम को महज जुमला ही बता रहे हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मंजूरी मिलने के बाद अभी इस बिल का लाभ मिलने में काफी दिन बाकि हैं। विपक्ष का कहना है कि सरकार ने 10 प्रतिशत आरक्षण देकर सवर्ण समाज को बेवकूफ बनाया है।

सपा-बसपा के गठजोड़ से सीएम योगी हुए बेचैन, निकाली भड़ास

बता दें कि, लोकसभा के बाद 10 प्रतिशत सवर्ण आरक्षण बिल को बुधवार को राज्यसभा में भी पास हो गया था। इस बिल का लगभग सभी दलों ने समर्थन किया। आरक्षण बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने की मांग खारिज कर दी गई थी। बिल पर बहस के दौरान कुल 172 सदस्य मौजूद थे, इसके पक्ष में 165 जबकि विपक्ष में 7 वोट पड़े। बिल पर राज्यसभा में जबरदस्त बहस देखने को मिली और इस बिल पर लगभग 10 घंटे तक राज्यसभा में बहस चली थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.