Monday, Nov 28, 2022
-->
president reached to welcome pm modi breaking protocol kmbsnt

प्रोटोकॉल तोड़ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत करने पहुंचे राष्ट्रपति

  • Updated on 6/4/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश के कानुपर देहात का सुदूर गांव परौंख प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के व्यवहार के चलते इन दिनों सुर्खियों में बना हुआ है। राम नाथ कोविंद इस परौंख गांव से आते हैं। शुक्रवार को जब प्रधाननंत्री मोदी परौंख पहुंचे तो प्रोटोकॉल तोड़ते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद उनके स्वागत के लिए पहुंच गए। 

बाद में भाषण देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति कोविंद ने उन्हें बताया कि वह व्यक्तिगत रूप से हेलीपैड पर आए थे क्योंकि प्रधानमंत्री उनके गांव के अतिथि थे। मोदी ने कहा कि हालांकि उन्होंने शर्मिंदा महसूस किया, लेकिन इससे पता चला कि राष्ट्रपति ने "संविधान" और "संस्कार" (सांस्कृतिक मूल्य) दोनों को मूर्त रूप दिया।

पीएम मोदी ने कहा कि इससे पता चलता है कि कैसे 'अतिथि देवो भव' का संस्कार (सांस्कृतिक मूल्य) हमारी रगों में है, और इसका उदाहरण राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिखाया है।

भाषण के दौरान पीएम मोदी द्वारा हेलीपैड पर स्वागत के लिए आभार में अपना 'प्रणाम' देने के जवाब में कोविंद हाथ जोड़कर उठ गए। पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा कि परौंख की मिट्टी से राष्ट्रपति जी को जो संस्कार मिले हैं आज पूरी दुनिया उसकी साक्षी बन रही है।

पीएम मोदी ने कहा कि आज गांव में, राष्ट्रपति ने अपने पद के लिए बनाए गए प्रोटोकॉल से परे जाकर मुझे चौंका दिया। वह खुद मुझे रिसीव करने हेलीपैड पर आए थे। मुझे शर्मिंदगी महसूस हुई क्योंकि हम उनके मार्गदर्शन में काम कर रहे हैं और उनके पद की अपनी वरिष्ठता और सम्मान है।

मोदी के अनुसार, जब उन्होंने कोविंद से कहा कि आपने मेरे साथ अन्याय किया है, तो राष्ट्रपति ने जवाब दिया कि "संविधान की मर्यादों का पालन तो मैं करता हूं, लेकिन संस्कार की भी अपनी तक होती है। आज आप मेरे गांव में आए हैं। मैं आज यहां मेहमान का स्वागत करने आया हूं, राष्ट्रपति के रूप में नहीं आया हूं।"

comments

.
.
.
.
.