Saturday, Jan 22, 2022
-->
Price of apple of 30 rupees in wholesale reached Rs 80 in retail rkdsnt

थोक में 30 रूपए वाले सेब के खुदरा में 80 रूपए पहुंचे दाम

  • Updated on 9/15/2020

नई दिल्ली, (अनामिका सिंह)। डॉक्टर कहते हैं कि रोज सुबह एक सेब को खाइए और बीमारी को दूर भगाइए लेकिन आम आदमी सेब खाए भी तो कैसे? क्योंकि सेब के दाम तो रोजाना ऊपर चढते चले जा रहे हैं। जबकि असलियत यह है कि देश की सबसे बडी फल व सब्जी मंडी आजादपुर व टिकरी खामपुर में नई बनी सेब मंडी में थोक दामों में सबसे न्यूनतम रेट के सेब 30 रूपए हैं, जोकि खुदरा में 80 रूपए बिक रहे हैं। ऐसे में ए ग्रेड के सेब खाने का ख्वाब तो आम आदमी सोच भी नहीं सकता है।

पीएम के झूठ की पोल खुलने के डर से संसद में हमें नहीं बोलने दियाः कांग्रेस

सेब ही नहीं बल्कि इस मौसम में सबसे अधिक आवक वाला फल नाक के दाम भी आसमान छू रहे हैं।आजादपुर मंडी व टिकरी खामपुर में बनाई गई नई सेब मंडी में इस समय हिमाचल प्रदेश, कश्मीर व कुल्लू से सेब की आवक हो रही है। हिमाचल प्रदेश से आने वाला सेब जिसे एक नंबर में आंका जाता है उसका खुदरा दाम 50 रूपए से 80 रूपए प्रतिकिलो ग्रेडिंग के हिसाब से मंडी में रेट है। सेब के दाम दरअसल उसके आकार व सुंदरता पर निर्धारित होता है।

किसानों ने सड़क जाम की, कृषि विधेयक के समर्थक सांसदों को दी चेतावनी

वहीं कश्मीर डिलिशियस सेब की वेरायटी 30 रूपए से लेकर 70 रूपए तक थोक भाव में बिक रहे हैं। जबकि कुल्लू के सेब 40 से 70 रूपए है। वहीं कश्मीरी नाक का दाम 30 रूपए से 60 रूपए मंडी में है। हैरानी की बात यह है कि जब कश्मीर सेब जिसकी शुरूआत 30 रूपए से थोक मंडी में है तो उसे खुदरा में 80 रूपए क्यों बेचा जा रहा है। इस पर पूछे जाने पर आजादपुर मंडी के सेब के थोक व्यापारी विजय ने कहा कि सरकार के पास रिटेल सप्लाई चैन का ना तो कोई सिस्टम है और ना उस पर अंकुश जिसके चलते खुदरा व्यापारी ही नहीं बल्कि मॉल्स मालिक भी 20 से 50 फीसदी तक रेट बढाकर सेब खुलेआम बेच रहे हैं। 30 रूपए वाले सेब अमूमन नंदनगरी, करावल नगर, जंगपूरा, बस अड्डों अनाधिकृत कॉलोनियों में 70 से 80 रूपए के भाव बेचा जा रहा है। 

CISF की तर्ज पर काम करेगा नवगठित उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल

जाने पेटी के हिसाब से मंडी का भाव:
हिमाचल व शिमला से आने वाले सेब जिनकी पेटी 25 से 28 किलो की होती है उनका दाम 1300-2000 है।
कश्मीर नाक जिनकी पेटी 15-20 किलो की होती है उनका दाम 600-1000 है।
कश्मीर सेब जिसकी पेटी 16 किलो की होती है, उनका दाम 900-1000 है।
कुल्लू सेब जिसकी पेटी 24 से 26 किलो की होती है उनका दाम 900-1600 है। 

टिकरी खामपुर से आजादपुर मंडी आने में बढ जाता है सुविधा शुल्क 
आजादपुर मंडी के चयनित सदस्य अनिल मल्होत्रा ने कहा कि टिकरी खामपुर में बनाई गई अस्थाई नई सेब मंडी मे जहां मूलभूत सुविधाओं की कमी है। वहीं टिकरी खामपुर से आजादपुर मंडी तक आने में सुविधा शुल्क बढ जाता है। जो गाडी टिकरी खामपुर सेब लेकर आजादपुर आती है तो उसे एपीएमसी वाले अंदर नहीं आने देते। उसे बुराडी ग्राउंड जाकर गेट पास या टोकन लेने के लिए दबाव बनाया जाता है जिससे उनका समय व्यर्थ होता है और ट्रांसपोर्टर का खर्चा बढ जाता है। इसका सीधा असर खुदरा विक्रेताओं द्वारा ग्राहकों की जेब पर डाल दिया जाता है।

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

सुशांत मौत मामले में CBI ने दर्ज की FIR, रिया के नाम का भी जिक्र

comments

.
.
.
.
.