ममता की कोलकाता रैली से पहले राहुल गांधी ने चिट्ठी लिखकर जताया समर्थन

  • Updated on 1/18/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। विपक्षी एकता और शक्ति प्रदर्शन के नाम पर ममता बनर्जी कोलकाता में रैली कर रही हैं जहां विपक्ष के सभी बड़े नेता शामिल होने वाले हैं। इस रैली में तृणमूल कांग्रेस की रैली में कांग्रेस, तेदेपा, सपा, राजद, जदएस, राकांपा, द्रमुक, नेशनल कांफ्रेंस, आम आदमी पार्टी (आप) आदि दलों के नेताओं के नजर आने की संभावना है। 

UP में अवैध खनन पर ED की बड़ी कार्रवाई- IAS चंद्रकला, सपा नेता समेत चार को समन

वहीं रैली के एक दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने विपक्षी एकजुटता के ममता बनर्जी के प्रयास का समर्थन करते हुए शुक्रवार को एक चिट्ठी लिखी और उम्मीद जताई है कि इस रैली से एकजुट भारत का शक्तिशाली सन्देश जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि 'पूरा विपक्ष इस विश्वास के प्रति एकजुट है कि सच्चे राष्ट्रवाद और विकास की रक्षा लोकतंत्र, सामाजिक न्याय और धर्मनिरपेक्षता जैसे उन मूल्यों के आधार पर करनी है जिनको नरेंद्र मोदी सरकार नष्ट कर रही है।' राहुल ने ममता को चिट्ठी में लिखा कि,'हम बंगाल के लोगों की सराहना करते हैं जो ऐतिहासिक रूप से हमारे इन मूल्यों की रक्षा करने में आगे रहे हैं। मैं यह एकजुटता दिखाने पर ममता दी का समर्थन करता हूँ और आशा करता हूँ कि हम एकजुट भारत का शक्तिशाली सन्देश देंगे।'

बालासाहेब ठाकरे नहीं होते तो हिंदुओं को भी नमाज पढ़नी पड़तीः शिवसेना

वहीं खबर है कि तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी ने 19 जनवरी की रैली में भाग लेने वाले विपक्षी नेताओं के लिए चाय पार्टी आयोजित करने का फैसला लिया है। पार्टी अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि 'बैठक के बाद विपक्षी नेताओं के लिए एक चाय पार्टी का आयोजन किया जाएगा। हम चाय पीएंगे और विपक्षी नेताओं के साथ बातचीत करेंगे।'

बता दें कि देश में आम चुनाव से पहले शक्ति प्रदर्शन के लिए ममता ने 19 जनवरी को कोलकाता में एक विशाल रैली का अयोजन किया है जिसमें उनके लाखों समर्थकों के शामिल होने की संभावना है। शहर के मध्य में स्थित ब्रिगेड परेड में आयोजित होने वाली रैली में सभी प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं को आमंत्रित किया गया है।

फिर बिगड़े राजधानी के हालात, हवा में घुला जहर, सांस लेने में हो रही परेशानी

विशाल रैली में मुख्यमंत्रियों अरविंद केजरीवाल, एच कुमारस्वामी, एन चंद्रबाबू नायडू के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा, पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला तथा राजद नेता तेजस्वी यादव, द्रमुक के एम के स्टालिन, असंतुष्ट भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के अलावा अन्य नेताओं के शामिल होने की संभावना है। ममता बनर्जी के साथ मंच पर समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव, बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा, राकांपा नेता शरद पवार, रालोद नेता चौधरी अजीत सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी, पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, दलित नेता जिग्नेश मेवाणी और झारखंड विकास मोर्चा के प्रमुख बाबूलाल मरांडी भी मौजूद रहेंगे। लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खडगे भी कांग्रेस की ओर से रैली में शामिल होंगे।  
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.