Friday, Jan 18, 2019

नर्सरी एडमिशन: दाखिले को लेकर निजी स्कूल कर रहे मनमानी, सबकी अपनी-अपनी है शर्तें

  • Updated on 1/11/2019

नई दिल्ली/पुष्पेंद्र मिश्र। जनवरी को राजधानी के निजी मान्यता प्राप्त स्कूलों की 75 फीसदी सीटों पर आवेदन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद अभिभावक स्कूलों द्वारा 4 फरवरी को जारी की जाने वाली पहली सूची का इंतजार कर रहे थे कि उन्हें कुछ स्कूलों द्वारा कॉल्स आने लगीं कि आपके बच्चे का दाखिला मैनेजमेंट कोटे के तहत कन्फर्म हो गया है आप दो दिन में आकर अपने बच्चे का दाखिला ले सकते हैं।

स्कूलों की मनमानी का ये अकेला मामला नहीं है। एक दूसरे मामले में एयरफोर्स बाल भारती स्कूल ने 8वीं के बाद बच्चों को ईडब्ल्यूएस कैटेगरी में रिटेन करने से इंकार कर दिया है। जबकि स्कूल रकारी जमीन पर बना है। एक अन्य मामले में द्वारका के क्वीन्स वैली स्कूल ने कक्षा 2 के 5 बच्चों को अपने मैन स्कूल में प्रमोट करने से इंकार कर दिया। 

राजधानी में फिर गिरी सीलिंग की गाज, पूर्वी दिल्ली में 16 फैक्ट्रियां हुई सील

मामला-1: एयरफोर्स बाल भारती 8वीं के बाद नहीं देगा फ्री में एजुकेशन 
लोधी रोड स्थित एयर फोर्स बाल भारती स्कूल ने अभिभावकों को 30 दिसम्बर 2018 को 7वीं कक्षा के अभिभावकों को एक नोटिस जारी कर कहा है कि स्कूल ईडब्ल्यूएस -डीजी कैटेगरी के कक्षा 8 में पढ़ रहे छात्रों को 1 अप्रैल 2019 के बाद फ्री में एजुकेशन लेने के अधिकारी नहीं रहेंगे। इसलिए उन्हें सलाह दी जाती है कि अपने बच्चों का कुछ अरेंजमेंट कर लें।

इस नोटिस के बाद अभिभावकों में हड़कम्प मच गया क्योंकि शिक्षा के अधिकार एक्ट 2009 के अनुसार सरकारी जमीन पर बने स्कूल को 12 वीं कक्षा तक ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के बच्चों को फ्री में एजुकेशन देनी होगी। स्कूल इससे पीछे हट रहा है। प्रिंसिपल सुनीता गुप्ता की ओर से अभिभावकों को भेजे गए लेटर हेड में इस बात का साफतौर पर जिक्र है कि स्कूल कक्षा 8 के बाद इन छात्रों को रिटेन नहीं करेगा।

मामले का संज्ञान लेने के लिए अधिवक्ता और आल इंडिया पैरेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक अग्रवाल द्वारा मुख्यमंत्री को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि जिन बच्चों का ईडब्ल्यूएस -डीजी क ोटे के तहत दाखिला हुआ है उन्हें स्कूल 12वीं से पहले नहीं निकाल सकता इससे उनका क रियर बर्बाद हो जाएगा। स्कूल डीडीए लैंड पर बना है। अधिवक्ता ने कहा कि दोनों बच्चों के पिता बच्चों की फीस भरने की हालत में नहीं हैं।

किराया लेने में बसों की मशीनें फेल, सरकार ने 3 महीने में सभी ETM को बदलने का दिया निर्देश 

 मामला-2: हर ड्रीम क्वीन्स वैली स्कूल, द्वारका ने कक्षा 3 में 5 छात्रों का प्रमोशन रोका
द्वारका सेक्टर 11 स्थित हर ड्रीम क्वीन्स वैली जूनियर स्कूल ने कक्षा 2 में पढ़ चुके 5 बच्चे जीविका चाहर, आकृति, काव्या, गीतिका, अंशिका कुमार को कक्षा 3 में प्रमोशन देने से इंकार कर दिया। स्कू ल का कहना है कि शिक्षा निदेशालय द्वारा जारी सर्कुलर के अनुसार इन बच्चों को द्वारका सेक्टर -8 स्थित क्वीन्स वैली स्कूल (मैन) के कक्षा 3 में रिटेन नहीं कर सकता।

स्कूल का कहना है निदेशालय ने 27 जुलाई 2018 को जारी किए सर्कुलर में कहा है कि कक्षा 2 से ऊपर निजी स्कूलों में दाखिला ईडब्ल्यूएस कोटे के अंतर्गत बंद हो गए हैं। शिक्षा निदेशालय सिर्फ नर्सरी, केजी और पहली कक्षा के दाखिले ऑफलाइन या ऑनलाइन कंडक्ट कराएगा। अधिवक्ता अशोक अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को मामले से अवगत कराते हुए भेजे गए पत्र में कहा है कि इससे पहले भी जूनियर स्कूल्स में पढ़ रहे बच्चों को मैन स्कूल में प्रमोशन मिलता रहा है।

रामलीला मैदान के आसपास संभलकर निकलें, दो दिन के लिए ये मार्ग रहेंगे बंद

जैसे- बाराखम्बा स्थित मॉडर्न स्कूल अपने जुनियर स्कूल रघुवीर सिंह जूनियर मॉडर्न स्कूल से ईडब्ल्यूएस कोटे के बच्चों को प्रमोशन देता रहा है। क्वीन्स वैली स्कूल द्वारा किया गया फैसला गलत है सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी की गई गाइड लाइन्स का स्कूल ने हनन किया गया। इसलिए स्कूल को अभिभावकों को भेजे गए सकुर्लर को वापस लेना पड़ेगा। 

मामला-3: मैनेजमेंट कोटे में दाखिले के लिए पहले आओ-पहले पाओ के तहत दाखिले
नर्सरी एडमिशन की जनरल कैटेगरी में 7 जनवरी को आवेदन की तिथि समाप्त हो चुकी है। अब स्कूलों को 21 जनवरी तक उन बच्चों की लिस्ट अपडेट करनी होगी जिन्होंने वहां नर्सरी केजी और पहली कक्षा के लिए आवेदन किया है। फिर 4 फरवरी को चयनित किए गए जनरल कैटेगरी के बच्चों की पहली सूची जारी की जाएगी।

CBI मामले में स्वामी बोले- फर्जी कानूनी जानकारों की बात नहीं सुनें PM मोदी

लेकिन पश्चिम विहार के ग्लोबल पब्लिक स्कूल से अभिभावकों को कॉल की जा रही है कि आपके बच्चे का दाखिला मैनेजमेंट कोटे के तहत हो जाएगा। आपका बच्चा मैनेजमेंट कोटे में शॉर्टलिस्ट हो चुका है। आप कल आकर दाखिले संबंधी प्रक्रिया को पूरा कर लें।

द्वारका के मैक्सफोर्ट स्कूल में आवेदन करने वाले एक अभिभावक ने बताया कि मुझे कॉल आया कि मेरे बच्चे को डिस्टेंस क्राइटेरिया में 80 फीसदी अंक मिले हैं आप दो दिन में स्कूल आकर दाखिला प्रक्रिया पूरी कर लें। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.