Tuesday, Nov 29, 2022
-->
Priyanka and nick jonas donate floods in Assam ANJSNT

असम बाढ़ में फंसे लोगों के मदद के लिए आगे आए प्रियंका-निक, लोगों से की ये अपील

  • Updated on 7/27/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में मानसून ने दस्तक दे दी है।  जहां एक तरफ इस बारिश से लोगों को गर्मी से राहत मिली है वहीं कुछ लोग ऐसे भी जो इस बारिश की वजह से बेघर हो गए हैं।देश के कई राज्यों में हो रही भारी बारिश से बिहार और असम में बाढ़ आ गई है। ऐसे में जरूरतमंद लोगों की मदद करने के लिए प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) और निक जोनास (Nick Jonas) आगे आए हैं।

प्रियंका चोपड़ा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि हम सभी अभी भी वैश्विक महामारी के प्रभावों से निपट रहे हैं लेकिन भारत का एक राज्य असम एक  ऐसा है जिस पर अभी एक और बड़ा संकट आ गया है। राज्य में हुई भारी बारिश के कारण यहां पर बाढ़ का माहौल बन गया है।  जिसके कारण हजारों लोग अपने घर से बेहघर हो गए है।

कोरोना संकट के बीच आई ये लाइलाज बीमारी, इंसानों को बचाने के लिए घोड़ों को दी जाती है मौत

उन्होंने आगे कहा कि  असम के बाढ़ प्रभावित लोगों को हमारी मदद की जरूरत है। मैं कुछ ऐसे संगठन की डिटेल दे रही हूं जहां पर आप लोग दान करके इन लोगों की मदद कर सकते हैं। मैंने और निक ने भी इन लोगों की मदद के लिए दान दिया है। जिससे बाढ़ में फंसे लोगों को राहत मिल सकें। 

these-people-died-due-to-assam-bihar-flood-djsgnt

24 लाख से अधिक लोग प्रभावित
प्राधिकरण ने बताया कि राज्य में 24.76 लाख से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। सर्वाधिक 4.7 लाख से अधिक लोग गोवालपारा में प्रभावित हैं। पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास के लिये केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने रविवार को असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल से बातचीत की और राज्य में आई बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुए बुनियादी ढांचे की मरम्मत के लिये तथा सामान्य स्थिति बहाल करने में उन्हें केंद्र की ओर से हरसंभव मदद देने का आश्वासन दिया।

कोरोना से बचा सकता है बिहार का ये फल, इम्युनिटी बढ़ाने में है मददगार

ये नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही है
जल संसाधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बागमती नदी, बूढी गंडक, कमला बलान, लालबकिया, पुनपुन, अधवारा, खिरोई, महानंदा तथा घाघरा नदी विभिन्न स्थानों पर अब भी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि मुजफ्फरपुर-नरकटियागंज और समस्तीपुर-दरभंगा सेक्शन की कई रेलगाड़ियों का मार्ग बदलना पड़ा। बिहार के बाढ़ प्रभावित इन जिलों में बचाव और राहत कार्य चलाए जाने के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल 25 टीमों की तैनाती की गयी है।

comments

.
.
.
.
.