Thursday, Jan 20, 2022
-->
priyanka congress asked what meaning celebrating constitution day if dalits atrocities rkdsnt

प्रियंका गांधी का तंज, पूछा- दलितों पर अत्याचार हो तो संविधान दिवस मनाने का क्या मतलब?

  • Updated on 11/26/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रयागराज जिले के गंगापार फाफामऊ के एक गांव में दलित परिवार के चार लोगों की हत्या की घटना पर दुख व्यक्त करने शुक्रवार को यहां पहुंची कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में दलितों पर अत्याचार हो रहा है, ऐसे में संविधान दिवस मनाने का क्या औचित्य है। पीड़ित परिवार से मिलकर उनकी पीड़ा साझा करने के बाद प्रियंका ने कहा, 'इससे पहले इस परिवार के साथ 2019 में फिर 2020 में और 2021 के सितंबर में मारपीट की गई और अब उनकी हत्या कर दी गई।’’ 

मोदी सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस ने संसद सत्र के पहले दिन विपक्षी नेताओं की बुलाई बैठक

उन्होंने कहा, 'जब दबंगों ने 2019 में इस दलित परिवार के साथ मारपीट की थी तो पुलिस ने पहले कार्रवाई क्यों नहीं की और इन्हें सुरक्षा क्यों नहीं दी। प्रदेश में जहां -जहां मैं जा रही हूं, मैं देख रही हूं कि दलितों को न्याय नहीं मिल रहा है।’’ प्रियंका ने कहा, 'यहां दलितों के लिए, किसानों के लिए, महिलाओं के लिए न्याय नहीं है। न्याय केवल उन लोगों के लिए जिनकी सत्ता है और जो बड़े बड़े उद्योगपति हैं। मैं दो साल से उत्तर प्रदेश का दौरा कर रही हूं और यह स्पष्ट दिख रहा है कि संविधान को नष्ट किया जा रहा है।’’ 

दिल्ली विधानसभा में कृषि कानून पर BJP के ‘‘मास्टरस्ट्रोक’’ पर केजरीवाल ने ली चुटकी

 

चुनावी मौसम में प्रदेश का दौरा करने के विपक्ष के आरोप पर कांग्रेस महासचिव ने कहा, 'वे कुछ भी कह लें, मैं लोगों की आवाज उठाती रहूंगी। मैं इनके खिलाफ लड़ती रहूंगी। जहां अन्याय हो रहा है वहां जाती रहूंगी और मैं उनके साथ खड़ी रहूंगी।’’ उन्होंने कहा, 'आगरा को देखिये वहां अरुण वाल्मिकी का साथ क्या हुआ। हाथरस में क्या हुआ, यहां क्या हो रहा है। दलितों पर जो अत्याचार हो रहा है क्या सब चुप बैठकर देखते रहेंगे।’’  

कांग्रेस नेता ने बढ़ते दामों पर पूछा- देश की वित्त मंत्री जी टमाटर खाती हैं या नहीं? 

प्रियंका ने बताया ,‘‘ उन्हें जो वीडियो दिखाया गया है और जो बताया गया है, उसको लेकर वह हिल गई हैं। पूरा परिवार दहशत में है और परिवार के लोग कह रहे हैं कि उनके साथ क्या होगा पता नहीं। पुलिस से इन्हें सहयोग नहीं मिला। पीड़ित परिवार की महिलाओं ने बताया कि जब वे शिकायत करने थाना जाती थीं तो पुलिस वाले उनका मजाक उड़ाते थे।’’ 

CBI को भ्रष्टाचार मामले में मिली सेवानिवृत्त न्यायाधीश पर मुकदमा चलाने की मंजूरी 

कांग्रेस महासचिव शाम लगभग चार बजे बम्हरौली हवाईअड्डे पर उतरीं और वहां से पार्टी के नेताओं के साथ स्वराज भवन आईं जहां कुछ समय रहने के बाद वह सीधे फाफामऊ पहुंचीं और पीड़ित परिवार से मिलीं।  उल्लेखनीय है कि प्रयागराज के गंगापार स्थित फाफामऊ के लाल मोहन गंज गांव में बुधवार की रात फूलचंद (50 वर्ष), उसकी पत्नी मीनू देवी (45 वर्ष), बेटी सपना (17 वर्ष) और बेटा शिवा (13 वर्ष) की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। पड़ोस के ही सामंती गुंडों पर हत्या का आरोप है।      

CBI को भ्रष्टाचार मामले में मिली सेवानिवृत्त न्यायाधीश पर मुकदमा चलाने की मंजूरी 

 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.