Wednesday, Apr 01, 2020
priyanka gandhi asks for amit shahs resignation says cannot control violence in delhi

प्रियंका गांधी ने मांगा अमित शाह का इस्तीफा, कहा- दिल्ली हिंसा को नहीं कर सके काबू

  • Updated on 2/26/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने आज मोदी सरकार पर दिल्ली में कानून व्यवस्था बनाये रखने में विफल रहने का आरोप लगाया है। उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग की। दिल्ली हिंसा के खिलाफ पार्टी के शांति मार्च के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रियंका ने यह बात कही है।

दिल्ली हिंसाः सोनिया गांधी ने केंद्र को ठहराया जिम्मेदार, मांगा गृहमंत्री इस्तीफा

प्रियंका ने शांति बरतने की अपील की

 प्रियंका ने इस अवसर पर कार्यकर्ताओं से प्रभावित इलाकों में जाने तथा शांति एवं भाईचारे का संदेश फैलाने की अपील की है।  उन्होंने सरकार पर दिल्ली को ‘बर्बाद’ करने का आरोप लगाया जहां देश भर से लोग रोजगार की तलाश में आते हैं ।       कांग्रेस महसचिव ने कहा कि यह हमारी दिल्ली है । लोग यहां काम की तलाश में आते हैं । आज इस शहर में आग और हिंसा फैलायी जा रही है।

विजय पार्क-यमुना विहार में लोगों ने दिखाई एकजुटता, न मस्जिद पर आंच आई न मंदिर पर!

कांग्रेस ने आजादी के लिये दी है कीमत

उन्होंने कहा कि हम लोग उस पार्टी से हैं जिसने स्वतंत्रता संघर्ष में योगदान दिया और शांति एवं सौहार्द बनाये रखना हमारा कर्तव्य है। उन्होंने दिल्लीवासियों से अपील करते हुए कहा कि प्रेम और भाईचारे का संदेश फैलायें।  प्रियंका ने आरोप लगाया  कि राष्ट्रीय राजधानी में शांति लौटाना सरकार, गृह मंत्री का काम है लेकिन वे विफल रहे। उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली आपका शहर है और इसे नष्ट किया जा रहा है, सरकार शांति बनाए रखने में विफल रही है।

दिल्ली हिंसा पर पुलिस ने प्रेस कान्फ्रेंस कर जारी किया हेल्पलाइन नंबर

गृह मंत्री के घर तक जाने से पुलिस ने रोका 

कांग्रेस नेता ने कहा कि हम गृह मंत्री के आवास तक जाना चाहते थे और इस्तीफा मांगना चाहते थे लेकिन पुलिस ने हमें रोक दिया। गौरतलब है कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का समर्थन करने वाले और विरोध करने वाले समूहों के बीच संघर्ष ने साम्प्रदायिक रंग ले लिया था। उपद्रवियों ने कई घरों, दुकानों तथा वाहनों में आग लगा दी और एक-दूसरे पर पथराव किया। इन घटनाओं में बुधवार तक कम से कम 22 लोगों की जान चली गई। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.