प्रियंका गांधी और सिंधिया को यूपी में मिली लोकसभा सीटों की जिम्मेदारी

  • Updated on 2/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के लिए नियुक्त दोनों प्रभारी महासचिवों प्रियंका गांधी वाड्रा और ज्योतिरादित्य सिंधिया को लोकसभा चुनाव के लिए मंगलवार को सीटों की संख्यावार जिम्मेदारी सौंप दी। पार्टी ने महासचिव-प्रभारी (पूर्वी उत्तर प्रदेश) प्रियंका को उत्तर प्रदेश की कुल 41 लोकसभा सीटों और महासचिव-प्रभारी (पश्चिमी उत्तर प्रदेश) सिंधिया को 39 सीटों की जिम्मेदारी दी है। 

बीकानेर जमीन मामला: वाड्रा के जवाबों से संतुष्ट ED फिर करेगी पूछताछ

कांग्रेस के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान के मुतबिक पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने इन दोनों महासचिवों के लिए सीटों की संख्या के निर्धारण को स्वीकृति प्रदान की। प्रियंका को जिन सीटों की जिम्मेदारी सौंपी गई है उनमें अमेठी और रायबरेली के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गढ़ कही जाने वाली गोरखपुर सीट भी शामिल है।  

राफेल पर अंबानी की रिलायंस डिफेंस ने राहुल गांधी के आरोपों को नकारा

दूसरी तरफ, सिंधिया को सौंपी गई सीटों में कानपुर, कन्नौज, सहारनपुर और गाजियाबाद जैसी सीटें शामिल हैं। गत 23 जनवरी को प्रियंका और सिंधिया को महासचिव नियुक्त करते हुए उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी दी गयी थी। इन दोनों ने कल राहुल गांधी के साथ लखनऊ में रोडशो किया था। 

मनोहर पर्रिकर के बेटे को बॉम्बे हाई कोर्ट का नोटिस, कंपनी पर लगे हैं आरोप

वाड्रा को मिला ममता बनर्जी का साथ
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से एक कथित जमीन घोटाले की जांच के सिलसिले में रॉबर्ट वाड्रा और उनकी मां मौरीन को तलब करना लोकसभा चुनाव से पहले बदले की राजनीति है। वाड्रा, कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी के बहनाई हैं। वह राजस्थान के बीकानेर में एक कथित जमीन घोटाले के संबंध में जयपुर में अपनी मां के साथ ईडी के सामने पेश हुए हैं।

बड़े बेआबरू होकर कोर्ट रूम से निकले CBI के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव

दिल्ली जाने के दौरान कोलकाता हवाई अड्डे पर बनर्जी ने पत्रकारों से कहा, ‘‘ वे (भाजपा) यह हर जगह कर रहे हैं। यह (ईडी की पूछताछ) कुछ नहीं बल्कि लोकसभा चुनाव से पहले बदले की राजनीति है। नरेंद्र मोदी इस बात से वाकिफ हैं कि वह चुनाव के बाद सत्ता में वापसी नहीं करेंगे।’’ बनर्जी राष्ट्रीय राजधानी में आम आदमी पार्टी (आप) की ओर से 13 फरवरी को गैर भाजपा नेताओं की महा रैली में हिस्सा लेंगी।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने VVPAT पर्चियों की काउंटिंग पर नहीं किया कोई वायदा

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.