Sunday, Sep 26, 2021
-->
priyanka gandhi said bjp has kept silence on implementing caa in assam rkdsnt

प्रियंका गांधी बोलीं- भाजपा ने असम में CAA लागू करने पर साध रखी है चुप्पी

  • Updated on 3/1/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने सोमवार को दावा किया कि भाजपा नेता देश भर में घूम-घूम कर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) लागू करने की बातें कर रहे हैं, लेकिन असम में आते ही वे इस पर चुप्पी साध लेते हैं। सीएए के खिलाफ असम में 2019 में हिंसक प्रदर्शन हुए थे और उनमें पांच लोगों की जान चली गई थी। 

हाई कोर्ट ने दी वरवर राव को रिहाई के लिए नकदी मुचलका भरने की इजाजत 

प्रियंका ने कहा कि कांग्रेस और छह अन्य पार्टियों का महागठबंधन विधानसभा चुनाव के बाद असम में सरकार बनाएगा क्योंकि राज्य के लोग भाजपा के झूठे वादों से आजिज आ गये हैं। कांग्रेस नेता ने यहां पार्टी कार्यकताओं की बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘चुनाव से पहले भाजपा बड़े-बड़े वादे करती है, लेकिन अगले पांच वर्षों के दौरान वे लोग उन्हें पूरा करने के लिए कुछ नहीं करेंगे और लोगों को यह समझ आ गया है।’’ 

अमरिंदर सिंह के मुख्य सलाहकार बने चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा के नेता देश भर में घूम-घूम कर सीएए लागू करने की बातें कर रहे है।, लेकिन वे असम में आने पर इस बारे में चुप्पी साध लेते हैं। ’’ प्रियंका ने कहा, ‘‘राज्य(असम) में इसका जिक्र करने का उनमें (भाजपा नेताओं में) साहस नहीं है और असम के लोगों को उन्हें (भगवा पार्टी के नेताओं को) इस बारे में कभी बोलने तक नहीं देना चाहिए...। ’’ 

पामेला ड्रग्स केस : भाजपा नेता राकेश सिंह का एक सहयोगी गिरफ्तार

गौरतलब है कि सीएए का उद्देश्य पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आए ऐसे ङ्क्षहदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाई समुदाय के लोगों को भारतीय नागरिकता प्रदान करना है, जो उन देशों में धार्मिक प्रताडऩा के चलते 31 दिसंबर 2014 तक भारत आ गए थे।

कामाख्या देवी मंदिर में पूजा कर असम दौरे की शुरुआत 
कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाद्रा ने गुवाहाटी के कामाख्या देवी के मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ ही सोमवार को असम के दो दिवसीय दौरे की शुरुआत की।      असम में 126 सदस्यीय विधानसभा के लिए 27 मार्च, एक अप्रैल और छह अप्रैल को तीन चरणों में मतदान होगा। प्रियंका सबसे पहले जलुकबारी इलाके में रुकी, जहां कांग्रेस समर्थकों ने उनका स्वागत किया। इसके बाद वह नीलाचल हिल्स स्थित शक्ति पीठ के लिए रवाना हो गईं। प्रियंका यहां लाल पोशाक में नजर आईं। यह रंग शक्ति का प्रतीक भी माना जाता है। 

12 एमएलसी नामित कर राज्यपाल को राज धर्म का पालन करना चाहिए: शिवसेना

कांग्रेस नेता ने कहा कि वह काफी समय से मंदिर आना चाहती थीं और ‘‘ उनकी यह इच्छा पूरी हो गई।’’ उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘ मैंने अपने, अपने परिवार और सबसे अधिक असम के लोगों लिए दुआएं मांगी।’’ राज्य में आगामी चुनाव के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि राजनीति के बारे में बाद में बात करेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं भगवान का शुक्रिया अदा करने और उनका आशीर्वाद लेने मंदिर आई हूं, जिन्होंने मुझे बहुत कुछ दिया है।’’ इससे पहले प्रियंका ने अपने फेसबुक पेज पर असम में अपने दो दिवसीय दौरे की शुरुआत कामाख्या मंदिर में दर्शन के साथ करने की जानकारी दी थी। 

जावेद अख्तर मानहानि मामले में कंगना रनौत के खिलाफ वारंट जारी

उन्होंने लिखा था, ‘‘ आज, मैं मां कामाख्या देवी के दर्शन के साथ अपने दो-दिवसीय असम दौरे की शुरुआत करूंगी। मैं असम के भाइयों-बहनों और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा भी करुंगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने कहा कि असम ‘‘उनके दो दिवसीय दौरे को लेकर उत्साहित है....’’ बारो ने ट्वीट किया, ‘‘ उनकी यात्रा, असम के हर एक व्यक्ति के दिल में उम्मीद की किरण जगाती है, पांच साल तक झूठें वादों के नाम पर ठगे गए लोगों के लिए कांग्रेस नीत शासन में राज्य में विकास की नई सुबह इंतजार कर रही है।’’ 

SBI जनरल इंश्योरेंस के साधारण बीमा उत्पाद को बेचेगी इंडियन ओवरसीज बैंक

 

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 


 

comments

.
.
.
.
.