priyanka-gandhi-call-off-dharna-after-meeting-sonbhadra-victims

सोनभद्र हिंसा के पीड़ितों से मिलने के बाद प्रियंका गांधी का धरना खत्म

  • Updated on 7/20/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने आज सोनभद्र नरसंहार के पीड़ितों से चुनार गेस्ट हाउस में  मुलाकात की। इसके साथ ही कल से चल रहा उनका धरना भी खत्म हो गया। पाड़ितों के परिजनों से मिलकर प्रियंका भावुक हो गई और रोने लगी। हालांकि कुछ पीड़ितों को प्रशासन ने बाहर ही रोक दिया।

दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश प्रशासन ने प्रियंका गांधी से मिलने आए कांग्रेस नेता आरएनपी सिंह, जतिन प्रसाद और दीपेंद्र हुडा को बनारस एयरपोर्ट पर रोक लिया है। सूत्रों के अनुसार इन्हें धारा 144 का हवाला दे कर प्रियंका गांधी से मिलने से रोका गया है। कल सोनभद्र हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों से मुलाकात करने से उत्तर प्रदेश प्रशासन ने प्रियंका गांधी को रोक दिया गया था और उन्हें चुनार गेस्ट हाउस में रखा था। 

पीड़ितों के परिजनों से मिलने पर अड़ी प्रियंका गांधी ने पूरी रात चुनार गेस्ट हाउस में बिताई और इसी दौरान अफसरों ने बदां जाकर उन्हें मनाने की कोशिश की लेकिन प्रियंका गांधी उनके लाख मनाने पर भी नहीं मानी और उन्होंने कहा कि वे मृतकों के परिजनों से मिले बिना वहां से नहीं लौटेंगी।

क्या था मामला
बता दें कि उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में जमीन विवाद को लेकर हुई हिंसा में घायल हुए लोगों से मिलने जा रही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के काफिले को रोके जाने की सूचना है। सूत्रों के अनुसार बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के आईसीयू में इस हिंसा में घायल लोगों से मिलने के बाद जब प्रियंका ने सोनभद्र की ओर रुख किया तो उन्हें मिर्जापुर के नारायण पुर चौकी के पास रोका गया। काफिले को रोके जाने के बाद प्रियंका वहीं धरने पर बैठ गईं। बाद में उन्हें चुनाव गेस्ट हाउस ले जाया गया। 

मैं सोनभद्र जाकर रहूंगी: प्रियंका
रास्ते में रोके जाने के को लेकर प्रियंका ने कहा कि प्रशासन चाहे जो कर ले मैं सोनभद्र जाकर रहूंगी और पीड़ितों से मुलाकात भी करूंगी। साथ ही उन्होंने मांग की कि प्रशासन रोके जाने का उचित कारण बताए। प्रियंका को रेके जाने को लेकर उत्तर प्रदेश के डीजीपी ने कहा कि उन्हें सिर्फ रोका गया है, गिरफ्तार नहीं किया गया है।

प्रियंका को रोके जाने को राहुल गांधी ने बताया गैरकानूनी, कही ये बात

मनमानी कर रही यूपी सरकार: राहुल
प्रियंका को रोके जाने पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी प्रतिक्रिया दी है। राहुल ने ट्वीट किया है कि प्रियंका को अवैध रूप से असेस्ट किया गया है। प्रियंका को पीड़ितों से मिलने से रोकने के लिए सत्ता का मनमाना उपयोग किया जा रहा है। इससे ये साबित होता है कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार असहज महसूस कर रही है। 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.