Thursday, Jan 20, 2022
-->
priyanka gandhi vadra tweet medical college ppe kit issue yogi adityanath pragnt

प्रियंका गांधी ने पूछा- UP में खराब PPE किट की सप्लाई, क्या दोषियों पर होगी कार्रवाई?

  • Updated on 4/27/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के कुल मामलों की संख्या रविवार को 1873 हो गई। इस बीच सूबे के दो मेडिकल कॉलेजों में घटिया पीपीई किट (PPE Kit) की सप्लाई की शिकायत संबंधी पत्र के लीक होने के मामले पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) पर हमला किया है। 

प्रियंका गांधी ने सवाल किया कि क्या डॉक्टरों के लिए खराब पीपीई किट की सप्लाई करने के दोषियों पर कार्रवाई होगी। उन्होंने यह दावा भी किया कि यूपी सरकार (UP Government) को पीपीई किट से जुड़ा 'घोटाला' परेशान नहीं कर रहा है, बल्कि ये परेशान कर रहा है कि खबर बाहर कैसे आ गई।

आगरा में कोरोना से बिगड़ते हालात पर अखिलेश ने कहा- जागो UP सरकार!

प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट
दरअसल, योगी सरकार (Yogi Government) ने शिकायती पत्र के लीक होने की जांच एसटीएफ को दे दी है। इस पर प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, 'यूपी के कई सारे मेडिकल कालेजों में खराब पीपीई किट दी गई थीं। ये तो अच्छा हुआ सही समय पर वो पकड़ में आ गईं तो वापस हो गईं और हमारे योद्धा चिकित्सकों की सुरक्षा से खिलवाड़ नहीं हुआ।'

आगरा में कोरोना विस्फोट! प्रियंका गांधी ने योगी सरकार को कहा- पारदर्शिता बहुत जरूरी है

क्या दोषियों पर कार्रवाई होगी?- प्रियंका गांधी
उन्होंने दावा किया, 'लेकिन, हैरानी की बात ये है कि यूपी सरकार को ये घोटाला परेशान नहीं कर रहा है बल्कि ..ये परेशान कर रहा है कि खराब किट की खबर बाहर कैसे आ गई। ये तो अच्छा हुआ कि खबर बाहर आ गई वरना खराब किट का मामला पकड़ा ही नहीं जाता और ऐसे ही रफा-दफा हो जाता।' उन्होंने सवाल किया कि क्या दोषियों पर कार्रवाई होगी?

एटा मर्डर मामले में सामने आया सच, मां ने बेटे सहित पूरे परिवार को दिया था जहर

क्या है पूरा मामला?
गौरतलब है कि कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का इलाज कर रहे डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए कथित तौर पर खराब गुणवत्ता के निजी सुरक्षा उपकरण (पीपीई) किट की आपूर्ति के मामले में महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा (डीजीएमई) के पत्र के लीक होने की जांच उत्तर प्रदेश सरकार ने स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) को सौंपी है।

खबरों के मुताबिक पिछले दिनों घटिया पीपीई किट की आपूर्ति को लेकर मेरठ (Meerut) और नोएडा (Noida) के मेडिकल कॉलेजों के प्राचार्यों ने महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा केके गुप्ता को पत्र लिखे थे। पत्रों में पीपीई किट के खराब होने और आकार में छोटे होने की शिकायत की गई थी।

CM योगी ने कोरोना पर रोक के लिए दिए निर्देश, कहा- संक्रमण फैलाने वाले निजी अस्पतालों को कर दें सील

UP में कोरोना से 29 लोगों की मौत, 1873 संक्रमित
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार उत्तर प्रदेश में संक्रमण से 29 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं रविवार को 25 नए मामले सामने आए हैं, जिससे संक्रमण के मामले बढ़कर 1,873 पर पहुंच गए हैं। 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

comments

.
.
.
.
.