Tuesday, Aug 03, 2021
-->
priyanka-s-public-did-not-get-anything-in-tax-collection-of-2-74-lakh-crore-prshnt

पेट्रोल-डीजल पर प्रियंका का सवाल, 2.74 लाख करोड़ के कर वसूली में जनता को कुछ नहीं मिला

  • Updated on 6/11/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने कोविड-19 महामारी के दौरान पेट्रोल एवं डीजल पर 2.74 लाख करोड़ रुपये के कर वसूले, लेकिन जनता को कुछ नहीं मिला।उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘महामारी के दौरान मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर कर वसूले पूरे 2.74 लाख करोड़ रुपये। इस पैसे से पूरे भारत को टीका (67000 करोड़ रुपये), 718 जिलों में ऑक्सीजन संयंत्र, 29 राज्यों में एम्स की स्थापना और 25 करोड़ गरीबों को छह - छह हजार रूपये की मदद मिल सकती थी। मगर मिला कुछ भी नहीं।

BJP में जाने को लेकर सचिन पायलट का तंज, कहा- सचिन तेंदुलकर से बात की होगी

पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने को लेकर विरोध प्रदर्शन
गौरतलब है कि कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ शुक्रवार को देश भर में पेट्रोल पंपों के निकट सांकेतिक प्रदर्शन किया। पार्टी का कहना है कि इस दौरान कोराना संबंधी दिशानिर्देशों का पालन भी किया गया।

देश में पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने को लेकर देश भर में आज कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन जारी है। इसी कड़ी में दिल्ली में ईंधन की कीमतों को लेकर कांग्रेस का प्रदर्शन जारी है। कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा, जब यूपीए सत्ता में थी, तब पेट्रोल और डीजल पर टैक्स 9.20 रुपये था। अब यह 32 रुपये है। हम पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क वृद्धि को पूरी तरह से वापस लेने की मांग करते हैं। ईंधन को जीएसटी के दायरे में आना चाहिए।

पद्म श्री प्रोफेसर राधामोहन का 78 साल की उम्र में निधन, PM मोदी ने ट्वीट कर जताया शोक

ऑक्सीजन पर सवाल
इससे पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने आगरा के एक निजी अस्पताल में ऑक्सीजन की मॉक ड्रिल के दौरान कथित तौर पर कई मरीजों की मौत होने की घटना को लेकर बुधवार को राज्य की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए सवाल किया कि क्या सरकार इस मामले का सच सामने लाकर दोषियों को सजा देगी। उन्होंने ट्वीट किया, उप्र सरकार ने ऑक्सीजन की भारी कमी के बीच लगातार यही कहा कि ऑक्सीजन की कमी नहीं है। लेकिन प्रदेश भर में लोगों की तड़प-तड़प कर जान चली गई। आगरा में भी प्रशासन कह रहा है कि ऑक्सीजन की कमी नहीं थी। क्या उप्र सरकार आगरा मॉक ड्रिल का सच सामने लाकर दोषियों को सजा देगी?

पहलवान सागर हत्या मामले में सुशील का एक और सहयोगी गिरफ्तार

अस्पताल संचालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज
गौरतलब है कि आगरा में कोविड-19 मरीजों की ऑक्सीजन आपूर्ति कथित रूप से रोक कर मॉक ड्रिल करने संबंधी वीडियो क्लिप वायरल होने के मामले में जिलाधिकारी ने मंगलवार को एक निजी अस्पताल को सील करने तथा अस्पताल संचालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिये हैं।खबरों में कहा गया था कि इस घटना में 22 लोगों की मौत हो गई थी। जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने हालांकि ऑक्सीजन की कमी से 22 लोगों की मौत की खबर को गलत बताया।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.