Wednesday, May 12, 2021
-->
protest-against-farm-law-new-farm-law-delhi-farmers-protest-modi-government-prsgnt

राजस्थान-हरियाणा बॉर्डर पर किसानों का हंगामा, बैरिकेडिंग तोड़ी, पुलिस को दागने पड़े आंसू गैस के गोले

  • Updated on 12/31/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए नए कृषि कानूनों के विरोध में नोएडा में विभिन्न स्थानों पर किसानों का धरना प्रदर्शन जारी है। इसी बीच आज सरकार और किसान संगठनों के बीच कृषि कानून को लेकर छठे दौर की बैठक हुई थी। जिसमें किसानों की दो मांगे मांग ली गई थीं। हालांकि अभी भी एमएसपी और तीनों कृषि कानूनों की वापसी को लेकर सहमति नहीं बनी हुई है।

ऐसे हालातों में किसानों का आंदोलन आगे भी जारी रहेगा और कुछ दिनों के अंतराल के बाद दोनों पक्षों के बीच छठे दौर की वार्ता शुरू होगी जो जनवरी के पहले हफ्ते में मुमकिन है। 

कृषि कानूनों के खिलाफ केरल विधानसभा का विशेष सत्र, CM पिनराई विजयन ने पेश किया प्रस्ताव

किसानों ने जबरन घुसने की कोशिश की 
वहीँ, खबर आ रही है कि राजस्थान के किसानों के ग्रुप ने राजस्थान-हरियाणा के बॉर्डर शाहजहांपुर में जबरन घुसने की कोशिश की और पुलिस के बेरिकेटिंग तोड़ते हुए करीब एक दर्जन टैक्टरों ने हरियाणा में जबरन प्रवेश कर लिया। इस दौरान पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश भी की लेकिन जब किसान नहीं माने तब पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े। 

वहीँ, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने एडवाइजरी जारी कर बताया गया है कि कहां और किस तरफ रूट बंद रहेगा। इस एडवाइजरी के अनुसार, सिंधु, औचंदी, प्याऊ मनियारी, सबोली और मंगेश बॉर्डर को बंद कर दिया गया है। अब इस रास्ते पर आने वाले लोगों को लामपुर, साफियाबाद, पल्ला और सिंधु स्कूल टोल टैक्स बॉर्डर वाले रूट लेने की सलाह दी गई है। मुकरबा और जीटीके रोड के ट्रैफिक को भी डायपर्ट कर दिया गया है। 

BJP सांसद मनोज तिवारी एक बार फिर बने पिता, घर में आई नन्ही परी

पुलिस ने जारी की एडवाइजरी 
पुलिस ने लोगों को आउटर रिंग रोड, जीटीके रोड और एनएच 44 रूट पर जाने से मना किया है। इसके अलावा चिल्ला और गाजीपुर बॉर्डर को भी बंद कर दिया गया है। इसी रूट पर आने वाले लोगों को आनंद विहार, डीएनडी, अप्सरा, भोपरा और लोनी बॉर्डर लेने को कहा गया है। 

इससे पहले नोएडा के चिल्ला रेगुलेटर बॉर्डर पर बृहस्पतिवार को भी 11 किसानों ने सांकेतिक भूख हड़ताल की। वहीं दलित प्रेरणा स्थल पर धरने पर बैठे किसानों ने आगामी रूपरेखा बनाई।

पुलिस के हत्थे चढ़ा शातिर गैंगस्टर सुख बिकरीवाल, दुबई से किया गया डिपोर्ट

किसानों ने किया प्रण 
चिल्ला रेगुलेटर बॉर्डर पर चल रहे धरने को संबोधित करते हुए भारतीय किसान यूनियन (भानू) के प्रदेश अध्यक्ष योगेश प्रताप ने कहा, ‘‘किसानों का मनोबल टूटने वाला नहीं है। किसान किसी भी कीमत पर कृषि विधेयकों को मंजूर नहीं करेंगे और इन्हें वापस करा कर ही दम लेंगे।’’

वहीं दलित प्रेरणा स्थल पर धरने पर बैठे भारतीय किसान यूनियन (लोक शक्ति) के पदाधिकारियों ने भी एक स्वर में कहा कि मांगें पूरी होने तक धरना जारी रहेगा।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.