Sunday, Apr 18, 2021
-->
protesting-farmers-preparing-to-block-kmp-expressway-kmbsnt

किसान आंदोलन: केएमपी जाम करने की तैयारी शुरू, सिंघु बॉर्डर पर पहुंचे प्रदर्शनकारी

  • Updated on 3/4/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नए कृषि कानूनों (New farm laws) के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे किसानों को 6 मार्च को यहां बैठे 100 दिन पूरे होने वाले हैं। ऐसे में अब किसान सरकार पर दबाव बनाने के लिए एक बार फिर से अन्नदाता कि ताकत दिखाने जा रहे हैं। किसानों ने ऐलान कि या है कि वो 6 मार्च को केएमपी एक्सप्रेसवे को जाम करेंगे। अब किसान इसी की तैयारी में जुटे हुए हैं। सिंघु बॉर्डर पर किसानों के समर्थन में पंजाब के सरहिंद से युवाओं का दल  पहुंचा है। 

वहीं दूसरी ओर टीकरी बॉर्डर पर स्टेज को बढ़ाया जा रहा है। गर्मी से बचाव के लिए 200 फुट का एक पंडाल भी तैयार किया जा रहा है। आज से ही इस पर काम शुरू हो चुका है। इतना ही नहीं किसानों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए कूलर और पंखों की व्यवस्था की जा रही है। वहीं अब प्रदर्शन स्थल पर उवनके लिए जूस और अन्य ठंडे पेय पदार्थों का इंतजाम किया जा रहा है। 

दिल्ली नगर निगम उपचुनाव में AAP का लहराया परचम, 5 में से 4 सीटें जीती

पंजाब में दिल्ली के लिए तैयार हो गए ट्रैक्टर ट्रॉली
वहीं दूसरी ओर पंजाब में भी ट्रैक्टर ट्रॉलियों को दिल्ली में लाने के लिए तैयार किया जा रहा है। ये ट्रैक्टर ट्रौली पूरी तरह से सुविधाओं से लैस होंगी। इसमें सोने के लिए गद्दों का इंतजाम, गर्मी से बचने के लिए पंखे और मच्छरों से बचने के लिए मच्छर भगाने की मशीने लगाई गई हैं। किसान लंबे आंदोलन की तैयारी कर रहे हैं। पहले से ही किसानों ने सरकार को अपनी मांगे मानने के लिए अक्टूबर तक का अल्टीमेटम दिया हुआ है। ऐसे में गर्मी से बचाव के लिए अब तैयारी की जा रही है। 

8 मार्च को महिला किसान दिवस
इसके अलावा 8 मार्च को महिला किसान दिवस मनाया जाएगा और सभी धरने महिलाएं संभालेंगी। मंच प्रबंधन करेंगी और वक्ता होंगी। मोर्चा ने कहा कि 8 मार्च को महिला संगठनों व अन्य लोगों को आमंत्रित किया गया  ताकी वह किसान आंदोलन के समर्थन में इस तरह के कार्यक्रम करें और देश में महिला किसानों के योगदान को उजागर करें।

दिल्ली के CM केजरीवाल को मारने की धमकी देने वाले पप्पू को पुलिस ने किया गिरफ्तार

15 मार्च को निजी करण विरोधी दिवस मनाया जाएगा
केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के आवाहन पर 15 मार्च को निजी करण विरोधी दिवस मनाया जाएगा। मोर्चा सदस्य योगेंद्र यादव ने कहा कि पूरे भारत में एक एमएसपी दिलाओ अभियान शुरू होगा। जिसमें बाजारों में किसानों की फसलों की कीमत की वास्तविकता को दिखाया जाएगा और मोदी सरकार व एमएसपी के झूठे दावों वादों को उजागर करेंगे।

यह अभियान दक्षिण भारतीय राज्यों कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में शुरू किया जाएगा। पूरे देश के किसान इस अभियान में शामिल किए जाएंगे। 

ये भी पढ़ें:

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.