Sunday, May 22, 2022
-->
provocative-speech-in-pune-hindu-religious-leader-kalicharan-maharaj-gets-bail-rkdsnt

पुणे में भड़काऊ भाषण : हिंदू धार्मिक नेता कालीचरण महाराज को मिली जमानत 

  • Updated on 1/7/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र स्थित पुणे की अदालत ने यहां एक कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के मामले में हिंदू धार्मिक नेता कालीचरण को शुक्रवार को जमानत दे दी। कालीचरण को इस मामले में बृहस्पतिवार को न्यायिक हिरासत में भेजा गया था और इसके बाद उसे पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ की रायपुर जेल भेज दिया गया जहां 26 दिसंबर 2021 को आयोजित एक धार्मिक कार्यक्रम में महात्मा गांधी के खिलाफ कथित ‘आपत्तिजनक’ भाषा के प्रयोग करने के आरोप में भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। 

केंद्र ने SC से पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक की जांच में NIA को शामिल करने का किया आग्रह 

कालीचरण के वकील अमोल डांगे ने बताया कि शुक्रवार को अदालत ने पुणे में एक कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के आरोप में शुक्रवार को जमानत दी और 25 हजार रुपये के निजी मुचलके पर रिहा करने का आदेश दिया। 

अखिलेश ने पूछा- PM मोदी पंजाब रैली के मंच पर जाते और खाली कुर्सियां देखते तो...

उल्लेखनीय है कि सन 1659 में छत्रपति शिवाजी महाराज द्वारा आदिलशाही सेनानायक अफजल खान को मार गिराने की याद में 19 दिसंबर को ‘ शिव प्रताप दिन’ नाम से कार्यक्रम आयोजित किया गया था।

‘बुली बाई ऐप’ के आरोपी छात्र को मध्य प्रदेश के इंजीनियरिंग कॉलेज ने किया निलंबित

इस दौरान कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के आरोप में कालीचरण, हिंदू अघाडी नेता मिलिंद एकबोटे और कैप्टन दिगेंद्र कुमार (अवकाश प्राप्त) के खिलाफ यहां के खडक पुलिस थाने में विभिन्न धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुणे पुलिस ने छत्तीसगढ़ पुलिस से कालीचरण की हिरासत ली थी और मामले में गिरफ्तारी दिखाई थी।  

पीएम मोदी की सुरक्षा चूक मामले पर SC का निर्देश- सभी रिकॉर्ड सुरक्षित रखें, जांच स्थगित रखें

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.