Sunday, Apr 18, 2021
-->
puducherry cm narayanasamy makes serious allegations against center pragnt

पुडुचेरी के CM नारायणसामी ने केंद्र पर लगाए गंभीर आरोप, 22 फरवरी को साबित करेंगे बहुमत

  • Updated on 2/20/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पुडुचेरी (Puducherry) के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी (V Narayanasamy) ने शुक्रवार को केंद्र पर हमला करते हुए गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार (Central Government) विपक्षी पार्टी एआईएनआरसी और अन्नाद्रमुक की मदद से उनकी सरकार को गिराने का प्रयास करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस (Congress) इस तरह के जोड़-तोड़ की कोशिश को नाकामयाब करेगी।

OROP संशोधन को लेकर रक्षा मंत्रालय पर राहुल गांधी का निशाना, पूछे ये सवाल

22 फरवरी को साबित करेंगे बहुमत
केंद्रशासित प्रदेश की उपराज्यपाल तमिलसाई सुंदरराजन ने एक दिन पहले ही उन्हें निर्देश दिया है कि वह 22 फरवरी को विधानसभा में बहुमत साबित करें। नाराणसामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर 'स्वेच्छाचारी' शासक की तरह काम करने का आरोप लगाया।  

मंगलयान-2 को लेकर बोले ISRO प्रमुख- ये भारत का होगा एक ऑर्बिटर अभियान

सोमवार को होगी बैठक
नारायणसामी कांग्रेस नीत सेक्युलर डेमोक्रिटक अलायंस के नेताओं और प्रतिनिधियों की एक संयुक्त बैठक के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे। यह बैठक केंद्रशासित प्रदेश में मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर चर्चा करने के लिए बुलाई गई थी। इसी बीच आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि विश्वास मत के लिए सोमवार सुबह 10 बजे विधानसभा की बैठक होगी। 

तेल की बढ़ती कीमतों पर CM अशोक गहलोत ने सिलसिलेवार ट्वीट कर केंद्र पर साधा निशाना

पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 15 सीटों पर दर्ज की थी जीत
पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 15 सीटों पर जीत दर्ज कर बड़ी पार्टी बनी थी और तीन डीएमके और एक निर्दलीय विधायकों की मदद से सरकार भी चला रही थी। वहीं बहुमत में आने के बाद कांग्रेस ने अपने वरिष्ठ नेता और यूपीए सरकार में मंत्री रहे वी नारायणसामी पर अपना भरोसा जताया और कांग्रेस के विधायकों ने मिलकर नारायणसामी को चुना और वह मुख्यमंत्री बने। लेकिन अब में नारायणसामी की सरकार संकट में दिख रही है।

विश्व में आयुर्वेद की स्वीकार्यता बढ़ी, देश में आयुर्वेदिक दवाओं के कारोबार में 50-90% दर की बृद्धि

एआईएडीएमके ने 4 सीटों पर की थी जीत हासिल
ऐसे में बड़ा सवाल खड़ा होता है कि आखिर कैसे 30 में से 15 सीटों पर जीत दर्ज कर बड़ी पार्टी बनी कांग्रेस संकट में आ गई। दरअसल 2016 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 15 सीटों पर जीत मिली थी जबकि एआईएनआरसी को सात सीटों पर जीत मिली, वहीं एआईएडीएमके ने 4 सीटों पर जीत हासिल की थी और तीन सीटों पर डीएमके के नेताओं बाजी मारी थी वहीं एक सीट पर निर्दलीय विधायक ने जीत हासिल की थी। मनोनित तीनों सीटों पर बीजेपी के विधायक हैं।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.