Friday, Aug 19, 2022
-->
punjab and chhattisgarh announced rs 50 lakh each for the farmers killed albsnt

लखीमपुर हिंसा: मारे गए किसानों के लिये पंजाब और छत्तीसगढ़ ने की 50-50 लाख रुपये की घोषणा

  • Updated on 10/6/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तरप्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने है। इस बीच प्रदेश के लखीमपुर खीरी में 4 किसानों समेत 8 लोगों की कार से कुचलकर मारे जाने से सियासत उफान पर है। आलम तो यह है कि लखनऊ और दिल्ली के साथ-साथ पंजाब और छत्तीसगढ़ तक के सीएम अपने कार्यक्रम को रद्ध करके पहुंच रहे है। इसी कड़ी में पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी और छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने ऐलान किया है कि पीड़ित परिवार को 50-50 लाख रुपये का मुआवजा देगी। यहीं नहीं पत्रकार के परिवार को भी इतनी ही राशि देने का ऐलान किया है।

 लखीमपुर घटना : प्रियंका गांधी ने फोन के जरिए मारे गए किसानों के परिजनों से संवेदना प्रकट की 

बता दें कि गुरविंदर सिंह की हत्या से पंजाब तक सियासी दलों के कान खड़े हो गए है। दरअसल अगले साल उत्तरप्रदेश के साथ-साथ पंजाब में भी विधानसभा चुनाव होने है। पंजाब में कांग्रेस का सियासी प्रयोग जारी है। इसी कड़ी में कभी  कैप्टन अमिरंदर सिंह को हटाकर चरणजीत सिंह चन्नी जैसे दलित नेता को सीएम बनाते है। लेकिन पार्टी की यह दांव नवजोत सिंह सिद्धू ने ही कर दी। ऐसे में लखीमपुर खीरी से किसान का हमदर्दी दिखाकर कांग्रेस उत्तरप्रदेश से लेकर पंजाब तक सियासी फायदा उठाने में जुट गई है।

अमित शाह से मुलाकात में सीएम चन्नी ने लखीमपुर घटना का मुद्दा उठाया

मालूम हो कि प्रियंका गांधी को लखीमपुर के रास्ते में ही गिरफ्तार कर लिया गया। जिसके बाद कांग्रेसी सड़क पर उतर आए। यहीं नहीं राहुल गांधी भी प्रियंका गांधी के समर्थन में लखनऊ पहुंचे। फिर वहां से लखीमपुर खीरी प्रशासन के इजाजत के बाद गए है। लेकिन इस पूरे मामले में योगी सरकार बैकफुट पर नजर आई। हालांकि सीएम योगी ने हिंसा से भड़के डेमैज कंट्रोल को बहुत हत तक रोकने में सफल रहे है। लेकिन जिस तरह से विपक्षी दलों के नेता लखीमपुर खीरी पहुंचना शुरु कर दिया है उससे लगता है कि इस मामले को आगे करके योगी पर अटैक किया जाएगा।    

 

comments

.
.
.
.
.