Sunday, Apr 18, 2021
-->
punjab-assembly-committee-investigate-harassment-of-sikh-youths-lodged-in-tihar-jail-rkdsnt

पंजाब विधानसभा की कमेटी करेगी तिहाड़ जेल में सिख युवकों की ‘प्रताड़ना’ की जांच 

  • Updated on 3/5/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पंजाब विधानसभा दिल्ली के तिहाड़ जेल में सिख युवकों के कथित प्रताड़ना और मजदूर अधिकार कार्यकर्ता नवदीप कौर के साथ हरियाणा पुलिस द्वारा ‘‘मारपीट’’ की घटना की जांच करने के लिए एक समिति गठित करेगी। पंजाब विधानसभा के बजट सत्र के दौरान शुक्रवार को कई विधायकों द्वारा इन मुद्दों को उठाने के बाद अध्यक्ष राणा के. पी. सिंह ने समिति गठित करने की घोषणा की। 

अनिल देशमुख का दावा - मृत व्यक्ति हिरेन मनसुख वाहन का असली मालिक नहीं

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘हम एक समिति का गठन करेंगे जो सभी तथ्यों को जुटाएगी और मामले की गहराई से जांच करेगी और विधानसभा को रिपोर्ट सौंपेगी।’’ मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने भी निर्णय का समर्थन किया। उन्होंने कहा, ‘‘मैं इससे सहमत हूं। इस पर गौर करने के लिए सदन की समिति गठित करना जरूरी है।’’ आप विधायक कंवर संधू द्वारा मुद्दा उठाने के बाद मुख्यमंत्री ने यह जवाब दिया। 

TMC ने प. बंगाल प्रभारी चुनाव उपायुक्त सुदीप जैन पर उठाए सवाल, EC ने रुख किया साफ

मजदूर कार्यकर्ता नवदीप कौर को पिछले महीने पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने जमानत दी थी। उन पर हत्या के प्रयास सहित कई धाराओं में मामला दर्ज है। कौर ने आरोप लगाए थे कि 12 जनवरी को गिरफ्तार करने के बाद हरियाणा पुलिस ने उनके साथ मारपीट की थी। इससे पहले शून्य काल के दौरान शिरोमणि अकाली दल के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने भी सदन में मुद्दो को उठाया और नवदीप कौर तथा उनके सहयोगी पर हरियाणा पुलिस द्वारा कथित तौर पर हमले की ङ्क्षनदा का प्रस्ताव लाने की मांग की। 

सुब्रमण्यन स्वामी ने श्रीधरन की उम्र को लेकर उठाए सवाल, आडवाणी-जोशी को किया याद

अखिलेश का भाजपा पर निशाना, बोले- अहंकार ने दिल्ली के शासकों को ‘अंधा-बहरा’ बनाया

मजीठिया ने आरोप लगाए कि तिहाड़ जेल में कुछ सिख युवकों की पिटाई हुई और कहा कि दिल्ली में जेल विभाग आप की सरकार के तहत आता है। मजीठिया ने कहा कि दिल्ली सरकार के वकील भी युवकों की जमानत याचिकाओं का विरोध कर रहे हैं। आप विधायक हरपाल सिंह चीमा ने आरोपों से इंकार करते हुए कहा कि युवकों का उत्पीडऩ दिल्ली पुलिस कर रही है, जो केंद्र सरकार के तहत आती है। इसके बाद आप और शिअद विधायकों के बीच जोरदार बहस हुई।

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

 

 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.