Saturday, Apr 17, 2021
-->
punjab drone case nia will investigate the case home ministry approves

पंजाब ड्रोन मामला: NIA करेगी मामले की जांच, गृह मंत्रालय ने दी मंजूरी

  • Updated on 10/3/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पाकिस्तान (PAKISTAN) से ड्रोन के जरिए पंजाब (PUNJAB) में भारी संख्या में हथियार गिराए जाने के मामले की जांच अब राष्ट्रीय सुरक्षा एजैंसी एनआईए (NIA) करेगी। पिछले दिनों पंजाब पुलिस ने खुलासा किया था कि पाकिस्तान द्वारा ड्रोन की मदद से पंजाब में कई बार हथियार गिराने की कोशिश की गई है। इसके बाद राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने गृहमंत्री अमित शाह (AMIT SHAH) से इस मामले में मदद मांगी थी। इसके बाद अब इस मामले की जांच एनआईए को सौंप दी गई है।

गुजरात में बोले PM मोदी, 2022 तक सिंगल यूज प्लास्टिक से भारत को मुक्त करने का लक्ष्य

एनआईए (NIA) की टीम जल्द ही मौके पर पहुंचकर मामले की जांच शुरू करेगी। यह मामला सामने आने के बाद अमरेंद्र सिंह (Captain Amarinder Singh) ने अंतर्राष्ट्रीय संबंधहोने का संदेह जताकर आगे की जांच एनआईए से कराने को कहा था। पंजाब पुलिस ने खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (केजैडएफ) के एक आतंकवादी मॉड्यूल का भी पर्दाफाश किया था। 

गांधी संदेश यात्रा में शामिल हुई प्रियंका, #BJP को दी गांधी के रास्ते पर चलने की नसीहत

तीन लोगों को पकड़ा था ज्वाइंट ऑपरेशन में

इससे पहले बीएसएफ (BSF) और एसटीएफ (STF) ने एक ज्वाइंट ऑपरेशन में 3 लोगों को मंगलवार के दिन हथियार और कारतूस के साथ गिरफ्तार किया था। इन लोगों को मुठभेड़ के बाद पकड़ा गया था। इस दौरान उनके पास से भारी मात्रा में हथियार,एके 47 राइफल और कारतूस मिले थे। बताया जा रहा है कि ये हथियार पाकिस्तान से भेजे गए थे और किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की कोशिश थी।

हरियाणा चुनाव: कांग्रेस ने जारी की 84 उम्मीदवारों की लिस्ट, जानें किसे कहां से मिला टिकट

आईएसआई का हाथ

पाकिस्तान बॉर्डर (PAKISTAN BORDER) से सटे खेमकरण क्षेत्र में पाकिस्तानी खुफिया एजैंसी आई.एस.आई. द्वारा ड्रोन से हथियार भेजने की खबर सामने आई थी। यह ड्रोन झब्बाल नहर से बरामद किया गया था। आतंकियों ने इसे जला कर फैंक दिया था। इसके बाद अटारी सीमा से सटे एक गांव में भी पाकिस्तानी ड्रोन मिलने की बात सामने आई थी। जानकारी के अनुसार इन हथियारों का इस्तेमाल पंजाब और जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमला अंजाम देने के लिए किया जाना था। पुलिस के अनुसार भारतीय एयरस्पेस का उल्लंघन करके इन हथियारों की सप्लाई 3-4 हफ्ते पहले ड्रोन की मदद से हुई थी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.