Monday, Nov 28, 2022
-->
punjab governor not school principal his behavior against democracy - aap saurabh bhardwaj

पंजाब के राज्यपाल कोई स्कूल के प्रिन्सिपल नहीं है, व्यवहार प्रजातंत्र की मर्यादा के खिलाफ - AAP

  • Updated on 9/24/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली के एलजी के बाद अब पंजाब के राज्यपाल आम आदमी पार्टी की सरकार के काम में टांग अड़ा रहे हैं। भाजपा की केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त एलजी-राज्यपाल का व्यवहार प्रजातंत्र की मर्यादा के खिलाफ है, इस तरीके से प्रजातंत्र खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि देश में 75 साल में कभी नहीं देखा कि कोई राज्यपाल कह रहा है 'पहले मुझे लिस्ट ऑफ बिजनेस दिखाओ। उसके बाद पंजाब विधानसभा का सत्र बुला सकते हो। दिल्ली में जब से अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री बने हैं तब से एलजी ने हर चीज में टांग अड़ानी शुरू की है। 2014 से पहले ऐसा नहीं था।

पंजाब के मंत्री अमन अरोड़ा की यूरोप यात्रा रद्द, मोदी सरकार पर निकाली भड़ास

  •  

पार्टी मुख्यालय में प्रेस वार्ता में भारद्वाज ने कहा कि पंजाब विधानसभा का सत्र राज्यपाल की ओर से बुलाया जा रहा है। पंजाब के भाजपा द्वारा नियुक्त किए गए गवर्नर अपने आप को ऐसे दिखा रहे हैं कि जैसे कि स्कूल के प्रिंसिपल हों। पंजाब की चुनी हुई विधानसभा और विधायक उनके स्कूल के विद्यार्थी हैं। जिनके ऊपर वो अपना हुकुम चलाएंगे। देश में 75 साल की आजादी में कभी यह देखा नहीं गया कि गवर्नर चुनी हुई विधानसभा को कह रहा है कि पहले मुझे लिस्ट ऑफ बिजनेस दिखाओ, इसके बाद असेंबली बुला सकते हो। यह बड़ी अजीब बात है। गवर्नर कल कहेंगे कि कौन-कौन विधायक क्या क्या भाषण विधानसभा में देगा। उस भाषण की कॉपी पहले मुझे दो। पहले मैं देखूंगा कि पहले कौन क्या बोल सकता है। तब आप विधानसभा में बोलना।

राज्यपाल ने विधानसभा सत्र के लिए पंजाब के महाधिवक्ता की राय को नजरअंदाज क्यों किया: AAP 

उन्होंने कहा, 'मैं बहुत हैरान हूं की गवर्नर जैसे संवैधानिक पद पर बहुत सारे सलाहकार होते हैं। गवर्नर हाउस के अंदर पुराने अफसर होते हैं जो बताते हैं कि गवर्नर की क्या भूमिका है? गवर्नर की क्या लक्ष्मण रेखा है? दिल्ली में जब से अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री बने हैं तब से लेफ्टिनेंट गवर्नर ने हर चीज में टांग अड़ानी शुरू की है। उस पर भारतीय जनता पार्टी कहती थी कि यह दिल्ली पूरा राज्य नहीं है। जबकि दिल्ली 2014 से पहले भी पूरा राज्य नहीं था। मगर लेफ्टिनेंट गवर्नर इस तरीके से हर चीज के अंदर टांग नहीं अड़ाया करते थे। हर चीज के अंदर चुनी हुई सरकार के काम नहीं रोका करते थे।'

तेजस्वी यादव ने अमित शाह के भाषण को ‘कॉमेडी शो’ करार दिया 

विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि हमने देखा दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक, सीसीटीवी लगाने सहित कोई काम दिल्ली सरकार को करना हो हर चीज में उप राज्यपाल ने टांग अड़ाई है। यानी कि भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार ने टांग अड़ाई। आज पंजाब के गवर्नर पंजाब की विधानसभा के हर काम में टांग अड़ा रहे हैं, जोकि पूरे तरीके से प्रजातंत्र की मर्यादा के खिलाफ है। इस तरीके से प्रजातंत्र खत्म हो जाएगा। गवर्नर अंग्रेजों का वॉइसराय या लॉर्ड माउंटबेटन हो गया कि वो बताएंगे कि क्या करोगे और क्या नहीं करोगे। हम इसकी घोर निंदा करते हैं। गवर्नर अपनी मर्यादा और अपनी लक्ष्मण रेखा समझें।

भागवत के दौरे के बाद क्या मुस्लिम समाज के प्रति बदलेगा भाजपा का रुख : मायावती 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.